Top

लिफ्ट में दबकर फैक्ट्रीकर्मी की मौत, पुलिस पर समझौते के दबाव का आरोप

Admin

AdminBy Admin

Published on 28 Feb 2016 8:56 AM GMT

लिफ्ट में दबकर फैक्ट्रीकर्मी की मौत, पुलिस पर समझौते के दबाव का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: फैक्ट्री में काम कर रहे कर्मचारी की लिफ्ट के नीचे दबकर मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि लिफ्ट जान-बूझकर ऑन की गई थी। नाराज परिजन ने फैक्ट्री के सामने शव रखकर हंगामा किया। उन्होंने पुलिस पर समझौते के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया।

कौन था राकेश ?

-मृतक राकेश तिवारी पनकी थाना क्षेत्र के सुंदर नगर का रहने वाला था।

-वह पनकी साईड स्थिति नमकीन और गुटखे के रैपर बनाने वाली फैक्ट्री में काम करता था।

-मृतक के परिवार में पत्नी शीला, बेटी रश्मि और दो बेटे मनीष और शीबू हैं।

rakesh--3

क्या हुआ था घटना वाले दिन ?

-राकेश शनिवार को भी सुमन शालीमार फैक्ट्री में काम पर गया था।

-तीसरी मंजिल पर लिफ्ट से सामान भेजने के दौरान किसी ने लिफ्ट का स्विच ऑन कर दिया।

-लिफ्ट राकेश के ऊपर गिर गई जिसमें वह फंस गए।

-गंभीर रूप से घायल राकेश को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

-पत्नी ने कहा-होश में आने पर राकेश ने पत्नी शीला को घटना से जुड़ी बात बताई।

-देर रात राकेश की मौत हो गई।

rakesh-2

पत्नी का आरोप

मृतक की पत्नी शीला ने बताया कि जब राकेश को होश आया तो उसने कहा, किसी ने जान बूझकर लिफ्ट का स्विच ऑन किया था। इस वजह से लिफ्ट सीधे राकेश के ऊपर गिर गई। फैक्ट्री वाले यदि समय पर उन्हें किसी अच्छे अस्पताल में भर्ती करवाते तो शायद वो बच सकते थे।

rakesh--5

बेटी ने कहा-मुआवजा नहीं न्याय चाहिए

मृतक के बेटे मनीष ने बताया कि पुलिस फैक्ट्री मालिक पंकज अग्रवाल से मिलकर समझौते का दबाव बना रही है। पुलिस केस दर्ज करने से बच रही है। मृतक की बेटी का कहना है, हमें मुआवजा नहीं बल्कि पिता की मौत के जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई चाहिए।

Admin

Admin

Next Story