Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बीमार बेटी को ऑक्सीजन दिलाने के लिए भटक रहे पिता के इस सवाल पर रो देंगे आप

जिले में अवंतिका हॉस्पिटल के बाहर खड़े हुए मरीजों के परिजन रो रहे हैं। वजह है अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी।

Bobby Goswami

Bobby GoswamiReporter Bobby GoswamiRoshni KhanPublished By Roshni Khan

Published on 22 April 2021 11:34 AM GMT

Family members of corona patients worried in ghaziabad hospital
X

अवंतिका अस्पताल ग़ाज़ियाबाद (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद: जिले में अवंतिका हॉस्पिटल के बाहर खड़े हुए मरीजों के परिजन रो रहे हैं। वजह है अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी। आरोप है कि अस्पताल ने कह दिया है, कि मरीज के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर का इंतजाम उनके परिजन करें।इसके बाद हाहाकार मच गया है।अपनी 18 साल की बेटी की जिंदगी बचाने के लिए शैलेश नाम का व्यक्ति हमें अस्पताल के बाहर होता हुआ दिखाई दिया।रोते बिलखते शैलेश ने अपनी दास्तान बताई।शैलेश ने कहा कि वो ऑक्सीजन की तलाश में अपनी बेटी को छोड़कर कहां जाएं।

1 से 2 घंटे की बची है ऑक्सीजन

अन्य मरीज के परिजनों का भी यही हाल है। ऑक्सीजन के लिए वे यहां-वहां भटक रहे हैं। इस मामले में हमने अस्पताल के डॉक्टर से सवाल पूछा। उनका कहना है कि वेंडर की तरफ से ऑक्सीजन की प्रॉपर सप्लाई नहीं हुई है। जिसके बारे में वेंडर को अवगत करा दिया गया है। फिलहाल किसी भी मरीज को 100 फ़ीसदी ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था नहीं रह गई है। यही वजह है कि ऑक्सीजन सप्लाई में कटौती की जा रही है। सिर्फ एक या 2 घंटे की ऑक्सीजन सप्लाई बची है।

अब तक वेंडर ने किया पूरा कॉरपोरेट

अस्पताल का कहना है कि वेंडर की तरफ से अब तक पूरा कोऑपरेशन मिला है। इस बार भी वेंडर ने पूरा वादा किया है। जल्द से जल्द ऑक्सीजन की सप्लाई अस्पताल में सुचारू रूप से भेज दी जाएगी। इसलिए इंतजार कर रहे हैं। मरीजों के परिजनों को भी कहा गया है कि वह घबराए नहीं।अस्पताल भी अपनी तरफ से पुरजोर प्रयास कर रहा है। मरीजों के परिजनों को धैर्य बनाने के लिए भी आग्रह किया जा रहा है।

बेबसी की ऐसी तस्वीर नहीं देखी

साल 2020 में भी कोरोना ने अटैक किया था। लेकिन इस तरह की तस्वीर सामने नहीं आई थी, जो अब सामने आ रही है। नोएडा से लेकर गाजियाबाद में NCR के बड़े-बड़े अस्पतालों में जब इस तरह की स्थिति होगी, तो लोगों का क्या हाल होगा। सवाल सबके सामने यही है, कि क्या पहले से इस सब की तैयारी नहीं थी। जब कोरोना पहले ही अपना कहर दिखा चुका था, तो क्यों नहीं इन हालातों से निपटने की योजना पहले तैयार की गई?

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story