Top

जमीन को लेकर भाई बन गया भाई का दुश्मन, खेत में दौड़ाकर मारी गोली

Admin

AdminBy Admin

Published on 3 April 2016 8:25 AM GMT

जमीन को लेकर भाई बन गया भाई का दुश्मन, खेत में दौड़ाकर मारी गोली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: जिले के बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र स्थित गांव सैदपुर लश्करीगंज में बीते दिन चार बदमाशों ने खेत में काम कर रहे एक किसान वेदप्रकाश पाल को दिनदहाड़े खेत में दौड़ाकर गोलियों से छलनी कर दिया जिससे उनकी मौत हो गई। हत्या करने के बाद आरोपी फरार हो गए। वेदप्रकाश के बेटे ने अपनी पिता की हत्या का आरोप जेल में बंद ताऊ पर लगाया है।

पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। पुलिस ने आशंका जताई है कि जमीन के बंटवारे की रंजिश में घटना को अंजाम दिया गया।

आपको बता दें कि इसके पहले मृतक वेदप्रकाश ने अपने पिता की हत्या के आरोप में ढाई साल तक जेल में सजा काटी थी। बताया जा रहा कि उन्होंने पिता की हत्या जमीन के सही बंटवारे को न करने की वजह से की थी।

यह भी पढ़ें...बरेलीः चोरी के शक में बच्चे को दी गई तालिबानी सजा,की पिटाई,पिलाई यूरिन

क्या कहना है मृतक के बेटे विशाल का

-वेदप्रकाश के बेटे विशाल ने बताया कि गांव से करीब दो किमी दूरी पर उनका खेत है।

-शनिवार सुबह करीब सात बजे वेद प्रकाश रसुइया के दो मजदूरों के साथ खेत की निराई-गुड़ाई करने गए थे।

-पास ही दूसरे खेत में परिवार का ही अवधेश काम कर रहा था।

-सुबह करीब दस बजे उसने वेदप्रकाश को भागते देखा, गोलियों की आवाजें आ रही थी।

-वह तुरंत दौड़कर गांव पहुंचा और घटना की जानकारी दी।

-परिवार के लोग मौके पर पहुंचे तो देखा कि खेत से करीब 300 मीटर दूर स्थित ठिरिया निवासी अहमद के खेत में वेदप्रकाश का लहूलुहान शव पड़ा था।

-उनके सिर, पीठ, कंधा, गर्दन और पैर में गोलियां लगी हुई थी।

family दुखी परिजन

हमलावरों से जान बचाने के लिए भागे थे वेदप्रकाश

-बताया जाता है कि हमलावरों को देखकर जान बचाने के लिए उन्होने गांव की ओर दौड़ लगा दी।

-हमलावर भी फायरिंग करते हुए उनके पीछे दौड़े, क्योकि वेदप्रकाश की पीठ में गोलियां लगी है।

-एक गोली पैर में लगने के बाद वेदप्रकाश खेत मे गिर पड़े।

-बदमाशों ने फिर ताबड़तोड़ फायरिंग कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

-सूचना पर एसपी सिटी समीर सौरभ आसपास के थानों की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे।

-एहतियातन गांव में फोर्स तैनात कर दिया गया है।

जेल में बंद है सत्यप्रकाश

-मृतक के बेटे ने अपने जिस ताऊ सत्यप्रकाश पर हत्या करवाने का आरोप लगाया है, वो जेल में बंद है।

-चुनाव हारने के बाद गांव में फायरिंग कर लोगों को घायल करने के मामले में सत्यप्रकाश, उसके दोनो बेटे शुभम-सौरभ और पत्नी मुन्नी जेल में बंद है।

-वेदप्रकाश की हत्या में सत्यप्रकाश का नाम आने के बाद पुलिस उन लोगो से जेल में जाकर पूछताछ करने की तैयारी कर रही है।

-इसके साथ ही हत्यारों की तलाश के लिए उनसे मिलने आने वालों की सूची भी खंगाली जाएगी।

son मृतक का बेटा

पिता ने बोया बेटों के बीच खूनी रंजिश का बीज

-वेदप्रकाश की हत्या के बाद कहा जा रहा कि उनके पिता मदनलाल ने जमीन के बंटवारे में भेदभाव करके अपने दोनों बेटो सत्यप्रकाश और वेदप्रकाश के बीच खूनी रंजिश का बीज बो दिया था।

-करीब तीन साल पहले ट्रैक्टर से कुचलकर मदनलाल की मौत हो गई।

-हत्या का आरोप में वेद प्रकाश को ढाई साल जेल में बंद रहना पड़ा था।

-बाहर आने के बाद अब वेदप्रकाश की हत्या हो गई।

-इस बार आरोप है कि जेल में बंद सत्यप्रकाश ने यह वारदात कराई है।

क्या कहना है गांव वालों का

-गांव वालों के मुताबिक मदनलाल के पास सिर्फ छह बीघा पैतृक जमीन थी।

-दोनों बेटे सत्यप्रकाश और वेदप्रकाश के साथ मेहनत कर काफी जमीन खरीद ली।

-बंटवारे में दोनों बेटों को 25-25 बीघा जमीन दी और 50 बीघा जमीन अपने पास रखकर बड़े बेटे सत्यप्रकाश के साथ रहने लगे।

-उसकी पूरी कमाई सत्यप्रकाश को मिलती थी, इसके बाद ही दोनों भाईयों में मनमुटाव और झगड़ा होने लगा।

तनहाई की व्यवस्था बनाएं कारगर

-एसपी सिटी समीर सौरभ ने बताया कि जेल में ऐसे खतरनाक अपराधियों की निगरानी व तनहाई में रखने की व्यवस्था होती है। इस व्यवस्था को फिर से कारगर और मजबूत बनाने की दिशा में भी काम करेंगे।

Admin

Admin

Next Story