Top

बेटी के मुंडन पर कपड़े-खिलौने लेने जा रहा था‍ पिता,एक्‍सीडेंट में मौत

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 July 2016 11:29 AM GMT

बेटी के मुंडन पर कपड़े-खिलौने लेने जा रहा था‍ पिता,एक्‍सीडेंट में मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

[nextpage title="next" ]

accident kanpur

कानपुर: बेटी के मुंडन की तैयारियां चल रही थीं। घर में खुशियों का माहौल था। पिता बेटी के लिए कपड़े और खिलौने लेने बाजार गए थे। रास्ते में अनियंत्रित डम्फर ने उन्हें टक्कर मार दी और उनकी मौत हो गई। अचानक सारी खुशियां मातम में बदल गईं। एक्सीडेंट की सूचना पर पहुंचे परिजन और क्षेत्रीय लोगों ने हमीरपुर रोड जाम कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ित परिवार के साथ सहानुभूति जताने के बजाय बदसलूकी की।

क्‍या है मामला

-बिधनू थाना क्षेत्र के सिद्धार्थ नगर में रहने वाले राघवेन्द्र गुप्ता (28) पत्नी भाग्यवती,बेटी परी (01),पिता ब्रज बिहारी, मांं- भाई के साथ रहते थे।

-राघवेन्द्र की एक साल की बेटी परी का सोमवार को मुंडनसंस्कार था।

-पूरे परिवार में ख़ुशी का माहौौल था घर रिश्तेदारों से भरा था और सभी इसकी तैयारी में लगे थे।

-राघवेन्द्र अपनी बेटी के लिए कपड़े और खिलौने लेने के लिए बाइक से मार्केट जा रहेे थे ।

-वह जैसे ही पहाड़पुर के पास पंहुचेे पीछे से आ रहे तेज रफ़्तार डम्फर ने बाइक में टक्कर मार दी।

-राघवेन्द्र हाइवे किनारे लगे लोहे के एंगल से टकरा गए जिससे मौके पर उनकी मौत हो गई।

-वहीं उनकी गड़ी पर बैठी बुआ उर्मी घायल हो गईंं उनका निजी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।

मृतक के भाई नीरज गुप्ता ने बताया

-एक्सीडेंट की सूचना मिलते ही सभी लोग जब मौके पर पहुंंचे तो भाई का शव सड़क पर था।

-जब सब लोगोंं ने इसके खिलाफ जाम लगाया तो पुलिस समझाने की बजाय गाली गलौज करने लगी।

-मुझे घसीटते हुए जीप में डाल दिया और जबरन धक्का मारकर जाम खुला दिया और बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।

बिधनू थानाध्यक्ष जीवा राम यादव ने क्‍या कहा

-ट्रक चालक आशीष सिंह और परिचालक संदीप को कस्‍टडी में ले लिया गया है।

-यह दोनों मूल रूप से गोंडा के रहने वाले हैंं । यह खाली ट्रक लेकर मौरंग लेने के लिए हमीरपुर जा रहे थे ।

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

police

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

family

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

bheed

[/nextpage]

Newstrack

Newstrack

Next Story