Top

फतवा जारी, कहा- मदरसों-घरों पर फहराएं तिरंगा, खुलकर मनाएं जश्न

aman

amanBy aman

Published on 13 Aug 2016 2:39 PM GMT

फतवा जारी, कहा- मदरसों-घरों पर फहराएं तिरंगा, खुलकर मनाएं जश्न
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली : स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आम लोगों के मन में एक सवाल जरूर उठता है कि क्या मुस्लिम समुदाय मदरसों और घरों पर झंडा फहरा सकते हैं या नहीं? इस बार दरगाह आला हजरत से इस मसले पर फतवा ही जारी कर दिया गया। फतवे से साफ हो गया है कि झंडा फहराने या जश्न मनाने में किसी तरह का कोई हर्ज नहीं है।

यह भी पढ़ें...आखिर क्यों किया था गांधीजी ने झंडे को सलाम करने से इनकार?

फहरा सकते हैं तिरंगा

इस सिलसिले में दरगाह से सवाल पूछा गया था। जवाब में दरगाह आला हजरत के मुफ्ती ने कहा कि शरीयत के दायरे में रहकर जश्न मनाने में कोई हर्ज नहीं है। इस्लामी कानून के उसूलों का एहतराम करते हुए मुल्क का झंडा भी फहरा सकते हैं। बेहतर यह है कि आजादी के जश्न में उन मुस्लिम उलेमा और मजहबी रहनुमाओं को खिराजे अकीदत पेश करें, जिन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ आवाज उठाई थी।

आजादी के जश्न में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें

मुफ्ती ने ये भी कहा, ऐसा कर फिरकापरस्तों की साजिश को भी नाकाम किया जा सकता है, जो मुसलमानों के खिलाफ मुल्क से दुश्मनी का इल्जाम लगाते रहते हैं। ऐसी ताकतों को जवाब देने के लिए आजादी के जश्न में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। इस जश्न के लिए हमारे बुजुर्गों ने भी कुर्बानियां दी थीं। आजादी की फिजा में सांस लेने की तमन्ना थी। दरगाह आला हजरत के मदरसा मंजरे इस्लाम के मुफ्ती मुहम्मद सलीम नूरी ने फतवा जारी कर सभी मुसलमानों से जश्ने आजादी में हिस्सा लेने का आह्वान किया था।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story