×

यूपी में 50 फीसदी अंक पाने वाले ओबीसी छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति का लाभ

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 Aug 2018 3:01 PM GMT

यूपी में 50 फीसदी अंक पाने वाले ओबीसी छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति का लाभ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : पिछले साल अन्य पिछड़ा वर्ग के 60 प्रतिशत अंक कट आॅफ वाले छात्रों को ही शुल्क प्रतिपूर्ति की सुविधा दी गई थी। इस साल यह सुविधा ओबीसी वर्ग के 50 प्रतिशत अंक से ऊपर के सभी छात्रों को दी जाएगी। इसके लिए 413 करोड़ रुपये का अतिरिक्त प्रावधान किया जाएगा। इस साल अनुसूचित जाति के सभी पात्र उत्तीर्ण बच्चों को शुल्क प्रतिपूर्ति की सुविधा दी जाएगी।

ये भी देखें :भ्रष्टाचार के खिलाफ ग्रामीण महिलाओं ने बोला हल्ला, पुलिस को बनाया बंधक

सीएम योगी आदित्यनाथ ने एनेक्सी स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में छात्रवृत्ति योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी पात्र बच्चों को छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति दो किश्तों में 02 अक्टूबर और 26 जनवरी को दी जाएगी। शुल्क प्रतिपूर्ति सिर्फ शिक्षण शुल्क की प्रतिपूर्ति तक सीमित नहीं रहेगी बल्कि सभी अनिवार्य नाॅन-रिफण्डेबल फीस जैसे—प्रवेश, पंजीकरण, परीक्षा, शिक्षा, खेल, यूनियन, लाइब्रेरी, पत्रिका, चिकित्सा जांच फीस आदि की प्रतिपूर्ति भी कराई जाएगी।

ये भी देखें : जो देश के लिए दौड़ी, उसे दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, फेसबुकिया प्‍यार में हुआ ये हाल

पिछले साल छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए सीएम ने अपर मुख्य सचिव वित्त, अपर मुख्य सचिव पिछड़ा वर्ग कल्याण और प्रमुख सचिव समाज कल्याण को निर्देशित किया कि भविष्य में छात्रवृत्ति/शुल्क प्रतिपूर्ति के वितरण में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये और इसके वितरण में किसी प्रकार का विलम्ब नहीं किया जाये।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story