रसगुल्लों पर बढ़ी वर-वधू पक्ष में इतनी ज्यादा बात, बिना दुल्हन के ही बैरंग लौटी बारात

Published by Published: April 16, 2017 | 11:58 am
Modified: April 16, 2017 | 12:33 pm

कानपुर: अब तक आपने दहेज़ के चलते या फिर शराबी दूल्हे के चलते किसी बारात को लौटते देखा होगा, लेकिन कोई शादी रसगुल्लों की वजह से लौट गई हो, ये शायद आप पहली बार सुन रहे होंगे पर ऐसा हुआ है। कानपुर के एक शादी समारोह में एक शादी समारोह में रसगुल्लों के स्टाल से लड़के के मौसेरे भाई ने खाने की प्लेट में दो रसगुल्ले रख लिए। जिसका स्टाल पर खड़े युवक ने विरोध किया और एक रखने को कहा।

इसी बात पर इतना विवाद बढ़ा कि देखते-देखते बारातियों और जनातियो में लाठी-डंडा चलने लगे। जब यह बात लड़की को पता चली, तो उसने शादी से इंकार कर दिया। गांव के बड़े बुजुर्ग व पुलिस ने कई घंटे तक आपसी समझौता कराते रहे, लेकिन बात नहीं बनी। आखिर में बारात को बैरंग ही लौट गई।

कैसे उलझा मामला
-जिला उन्नाव के अचलगंज थाना क्षेत्र के खुटहा निवासी सत्यनारायण रैदास के बेटे शिवकुमार की शादी 14 अप्रैल को थी।
-पूरे शान-शौकत के साथ बारात कुरमापुर गांव पहुंची थी। नाचते-गाते बाराती लड़की पक्ष के घर पहुंचे।
-लड़के पक्ष व लड़की के लोग द्वार-चार की रस्म कर रहे थे।
-इस दौरान बाराती पंडाल के नीचे पहुंच कर खाना खाने लगे।
-चारों ओर ख़ुशी का माहौल था। आतिशबाजी हो रही थी और ढोल नगाड़े बज रहे थे।

-दूल्हे के मौसेरे भाई मनोज ने रसगुल्ले के स्टाल से अपने खाने की प्लेट में दो रसगुल्ले रख लिए।
-रसगुल्ले के स्टाल में पर खड़े युवक ने एक रसगुल्ला रखने को कहा।
-इस बात पर दोनों में विवाद शुरू हो गया और देखते-देखते विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों में मारपीट शुरू हो गई।
-पंडाल के नीचे मेजों पर लगा खाना लोग पलटाने लगे और रसगुल्ले एक-दूसरे को फेंक कर लोग मारने लगे।

दूल्हा-दुल्हन के पक्ष के लोगों ने भी की सुलह की कोशिश
-विवाद पर पहुंचे लड़की के पिता व लड़के के पिता अपने-अपने पक्ष के लोगों को समझाने लगे।
-लेकिन बाराती पक्ष के लोगों ने लड़की के पिता के साथ भी गाली-गलौज शुरू कर दी।
-इस बात पर जनाती पक्ष के लोग भी भड़क गए और मार-पीट दोबारा शुरू हो गई।
-शादी समारोह में मारपीट की सूचना पर पहुंची पुलिस ने हंगामा कर रहे दोनों पक्षों को शांत कराया।

-इसके बाद गांव के बड़े बुजुर्ग और पुलिस की मौजूदगी में समझौता कराने का प्रयास किया गया।
-लेकिन बात उस वक्त और बिगड़ गई, जब लड़की ने शादी करने से इंकार कर दिया और लड़की ने कहा मेरे पापा की बेइज्जती की है। यह शादी नहीं कर सकती।
-दोनों पक्षों के बीच समझौते की बात होती रही, लेकिन बात नहीं बनी और बारात को दुल्हन के बगैर ही वापस लौटना पड़ा।

अचलगंज एसएचओ मो अशरफ के मुताबिक लड़की पक्ष ने तहरीर दी है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App