Top

अमिताभ-नूतन पर केस, धर्म के नाम पर आजम के खिलाफ भड़काने का आरोप

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 March 2016 3:38 PM GMT

अमिताभ-नूतन पर केस, धर्म के नाम पर आजम के खिलाफ भड़काने का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर: सस्पेंडेड आईपीएस ऑफिसर अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर पर सोमवार को रामपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया। दोनों पर आजम खान के खिलाफ लोगों को धर्म और जाति के नाम पर भड़काने का आरोप लगाया गया है।

क्या है मामला?

-पक्का बाग निवासी सोनू कठेरिया ने 14 मार्च को थाने में तहरीर दी।

-इसके मुताबिक, 13 मार्च सुबह करीब 10 बजे अमिताभ और नूतन सामाजिक कार्यकर्ता दानिश खान के साथ दलित बस्ती आए ।

-अमिताभ ने कहा कि आजम खान उनके मकानों को इसीलिए तुड़वाना चाहते हैं कि ये लोग हिंदू निम्न जाति के हैं। यदि यह बस्ती मुसलमानों की होती तो आजम इसे कभी नहीं तुड़वाते।

-आजम खान रामपुर से वाल्मीकि बस्ती को एक-एक करके तुड़वाना चाहते हैं, जो भी हिंदू-आजम के खिलाफ बोलेगा वे जेल भिजवा कर ही रहेंगे।

-अगर वे संगठित नहीं हुए तो आज़म रामपुर में एक भी वाल्मीकि को रहने नही देंगे।

'नूतन ने किया समर्थन'

-एफआईआर के अनुसार अमिताभ की इन बातों का नूतन ने भी समर्थन किया।

-इन बातों को सुन कर वहां के वाल्मीकि, आजम खान के खिलाफ उत्तेजित होने लगे।

-इन बातों से साफ था कि हम लोग मंत्री आजम खान और सरकार के खिलाफ लोगों को भड़का रहे थे।

अब आदत हो गई है झूठे मुकदमों की

-अमिताभ ठाकुर को एफआईआर की प्रति मंगलवार को मिली।

-उन्होंने कहा कि वे बुलंदशहर से वापसी के समय वाल्मीकि बस्ती की वर्तमान स्थिति जानने गए थे।

-सच यह है कि यह एफआईआर पूरी तरह निराधार है और आजम खान द्वारा पद के व्यापक दुरुपयोग का एक और जीता-जागता नमूना है।

-लेकिन अब हमें इस तरह के झूठे मुकदमों की आदत सी हो गई है।

Newstrack

Newstrack

Next Story