×

कुंभ : टेंट में लगी आग, बाल-बाल बचे राज्यपाल लालजी टंडन

कुंभ मेले में देर रात एक कैंप में आग लगने के बाद बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन बाल-बाल बचे। मिली जानकारी के मुताबिक, जिस समय आग लगी, टंडन गहरी नींद में सो रहे थे।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 13 Feb 2019 2:47 AM GMT

कुंभ : टेंट में लगी आग, बाल-बाल बचे राज्यपाल लालजी टंडन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

प्रयागराज : कुंभ मेले में देर रात एक कैंप में आग लगने के बाद बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन बाल-बाल बचे। मिली जानकारी के मुताबिक, जिस समय आग लगी, टंडन गहरी नींद में सो रहे थे। बिहार के राज्यपाल लाल जी टण्डन मंगलवार की देर रात अरैल थाना क्षेत्र के सेक्टर 19 में त्रिवेणी शंकुल में विश्राम कर रहे थे। देर रात 2:20 पर जल लाल जी टण्डन गहरी नींद में थे कि अचानक उनके टेंट से आग की लपटें उठने लगी। यह देख वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी दौड़े और राज्यपाल को सकुशल बाहर निकाला तथा उन्हें सर्किट हाउस शिफ्ट किया गया।

मौके पर दमकल को सूचना दी गई लेकिन सेक्टर में दमकल न होने के कारण दमकल को आने में समय लगा। जिससे जब तक दमकल पहुंचा तब तक तीन टेंट जलकर राख हो गए। हालांकि किसी के जान माल का कोई नुकसान नहीं हुआ। उक्त बावत जब सेक्टर मजिस्ट्रेट सुनील यादव से बात की गई तो वह मामले में अनभिज्ञता जताने लगे।

ये भी देखें :युवाओं की टोली ने कराया क्या कुंभ, वाह कुंभ के दर्शन: चिदानन्द सरस्वती

हादसे में टंडन का मोबाइल, चश्मा, घड़ी और अन्य सामान जल गया। आग लगने के बाद टंडन को बचाकर सर्किट हाउस में शिफ्ट किया गया है।

ये भी देखें :प्रियंका व ज्योतिरादित्य के बीच लोकसभा सीटों का विभाजन

आपको बता दें, मेले में ये आग की पांचवीं घटना है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story