Top

Lucknow Police: पीड़ित की एफआईआर पर दरोगा कर रहे एडिटिंग

दरोगा ने सूरज के साथ हुई बर्बरता को कहासुनी और गाली गलौज के रूप में बदल दिया। अब फरियादी कोर्ट से इंसाफ की आस में भटक रहा हैं। पिटाई करने वाले दबंग अभी भी उसे धमका रहे हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 11 Feb 2016 10:28 AM GMT

Lucknow Police: पीड़ित की एफआईआर पर दरोगा कर रहे एडिटिंग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: वैसे तो सीएम से लेकर डीजीपी तक तुरंत एफआईआर की बात करते हैं, लेकिन उनकी नाक के नीचे एफआईआर की बजाय एडिटिंग हो रही है। इसलिए पीड़ित न्याय की आस में थाने के बाद अब कोर्ट में अपनी फ़रियाद लेकर पहुंच रहे हैं। ऐसा ही एक मामला राजधानी के गोसाई गंज में सामने आया हैं। जहां दबंग प्रधान पति और उसके दोस्तों की पिटाई के बाद थानें पहुंचे युवक की शिकायत को हल्का इंचार्ज दरोगा ने पूरा का पूरा एडिट कर दिया।

क्या है पूरा मामला?

-गोसाईगंज के सिशौली निवासी सूरज सिंह अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने रहे थे।

-इस दौरान एक प्रधानपति से उसकी कहासुनी हुई।

-प्रधानपति ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी पिटाई कर दी।

-सूरज अपने परिजनों के साथ मामला दर्ज करवानें थानें पहुंचा।

-दरोगा सत्य नारायण ने उसकी तहरीर में बदलाव कराकर प्रधानपति का नाम काटने को कहा।

-पीड़ित ने मना किया तो दरोगा ने अपनी पेन से ही एफआईआर एक नाम में काट दिया।

फरियादी ने कोर्ट से लगाई गुहार

-दरोगा ने सूरज के साथ हुई बर्बरता को कहासुनी और गाली गलौज के रूप में बदल दिया।

-अब फरियादी कोर्ट से इंसाफ की आस में भटक रहा हैं।

-पिटाई करने वाले दबंग अभी भी उसे धमका रहे हैं।

एसओ गोसाईगंज का कहना है

-इस मामले में पीड़ित कि एफआईआर उसकी शिकायत के आधार पर दर्ज हुई है।

Newstrack

Newstrack

Next Story