Top

यूपी में पहली बार महिलाएं बनीं शहर काजी, हिना और मारिया को मिला ओहदा

Admin

AdminBy Admin

Published on 26 Feb 2016 12:27 PM GMT

यूपी में पहली बार महिलाएं बनीं शहर काजी, हिना और मारिया को मिला ओहदा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: यूपी में पहली बार महिला काजी की नियुक्ति हुई है। कानपुर में डॉ हिना जहीर नकवी और मारिया फजल को महिला काजी के तौर पर नियुक्त किया गया है। दोनों ने ही काजी का कोर्स किया है। इन महिला काजियों की प्राथमिकता मुस्लिम महिलाओं को उच्चा शिक्षा दिलाना और घरेलू हिंसा से उबारना है।

महिला काजियों से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

-राजस्थान पहला ऐसा प्रदेश था जहां पहली महिला काजी की नियुक्ति हुई थी।

-इसके बाद मुंबई और कोलकाता में भी महिला काजियों को नियुक्त किया गया है।

-अब ऐसा करने वाला यूपी चौथा राज्य है।

कौन हैं डॉ. हिना नकवी

-डॉ. हिना जहीर नकवी एसोसिएट प्रोफेसर हैं।

-डॉ. नकवी ने कहा-इस पद पर रह कर मैं इस्लाम और समाज के विरुद्ध कोई काम नहीं करूंगी।

महिला शिक्षा पर जोर

दोनों महिला काजियों का कहना है, बेटियों को पढ़ा-लिखाकर उन्हें समाज में पुरुषों के कंधा से कंधा मिलाकर कर चलने के काबिल बनाने की जरूरत है। अब तक समाज में इसे बुरी नजर से देखा जाता था। बदलते दौर को ध्यान में रख कर लोगों की मानसिकता को बदलना होगा।

मारिया फजल ने कहा :

-समाज में महिलाओं को दबा-कुचला समझा जाता है।

-पुरुष प्रधान समाज उनकी पीड़ा नहीं समझते।

-तलाक के बाद महिलाएं त्रासदी के दौर से गुजरती हैं।

-घरेलू हिंसा को बात-चीत से निपटारा जा सकता है।

-महिलाओं को भी अपनी मनोस्थिति बदलने की जरूरत है।

-औरतें आत्मनिर्भर बनें इसके लिए तालीम जरूरी है।

Admin

Admin

Next Story