×

Sonbhadra: सोनभद्र में हवाई सफर का सपना हुआ पूरा, म्योरपुर एयरपोर्ट से इसी साल उड़ान संभव

Sonbhadra Myorpur Airport: UP के पिछड़े जिलों में एक सोनभद्र का भाग्य जल्द बदलने वाला है। जिले लोगों के लोगों का हवाई सफर का सपना जल्द पूरा होने वाला है।म्योरपुर एयरपोर्ट के निर्माण कार्य ने रफ्तार पकड़ ली है।

aman
Written By aman
Updated on: 2 July 2022 1:47 PM GMT
flight service will start soon from sonbhadra muirpur airport mou sign with aai
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले की गिनती प्रदेश के पिछड़े जिलों में होती है। लेकिन, जल्द ही सोनभद्र के लोगों के 'हवाई सफर' की ख्वाहिश पूरी होने वाली है। दरअसल, सरकार ने 'म्योरपुर एयरपोर्ट' के संचालन (Muirpur Airport In Sonbhadra) का जिम्मा एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को सौंप दिया है। इसके लिए दोनों पक्षों की ओर से एक एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं। उम्मीद की जा रही है कि वर्षों से निर्माणाधीन इस एयरपोर्ट के निर्माण में रफ्तार देखने को मिलेगी।

जानकारी के अनुसार, इसी साल के अंत तक म्योरपुर एयरपोर्ट से विमानों की आवाजाही शुरू हो सकती है। केंद्र सरकार के रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत म्योरपुर स्थित हवाई पट्टी का विस्तार कर इसे एयरपोर्ट (Airport) का रूप दिया जा रहा है। बता दें कि, बीते दो साल में एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) के निर्देश पर म्योरपुर एयरपोर्ट के विस्तारीकरण का काम जारी है। रनवे का काम लगभग पूरा हो चुका है।

जमीन विवाद के कारण अटका था मामला

म्योरपुर एयरपोर्ट निर्माण के तहत प्रशासनिक भवन, प्रतीक्षालय (Waiting Room), पार्किंग, टर्मिनल भवन (सहित अन्य काम बहुत हद तक पूरा हो चुका है। अभी एयरपोर्ट के बाउंड्री निर्माण का काम जारी है। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार इस एयरपोर्ट के निर्माण कार्य पर लगातार नजर रखे हुए है। यहां आपको बता दें कि, पहले इस एयरपोर्ट का निर्माण कार्य अक्टूबर 2021 तक ही शुरू किया जाना था। मगर, एन वक्त पर पार्किंग एरिया के कुछ भाग पर जमीन विवाद सामने आया। जिससे यह मामला अटक गया।

इसी साल तक काम खत्म करने का लक्ष्य

इसके बाद भी सरकारी प्रयास जारी रहे। बाद में, मार्च 2022 तक इसे पूरा करने का लक्ष्य रखा गया। बावजूद जमीन की समस्या दूर नहीं होने से काम गति नहीं पकड़ पाई। अब इसी साल के अंत तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सोनभद्र जिला प्रशासन भी जमीन से जुड़ी बाधाओं को दूर करने में जुट गया है। इसके मद्देनजर बीते दिनों तहसील प्रशासन की टीम ने मौके का मुआयना तथा सर्वे कार्य किया। अब एमओयू साइन होने के बाद निर्माण संबंधी दिक्कतों के जल्द दूर होने तथा एयरपोर्ट के चालू होने की उम्मीद बढ़ गई है।

aman

aman

Next Story