Top

BSP MP की बहू हिमांशी का हुआ था मर्डर, बेलेस्टिक रिपोर्ट में खुलासा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 18 May 2016 5:46 AM GMT

BSP MP की बहू हिमांशी का हुआ था मर्डर, बेलेस्टिक रिपोर्ट में खुलासा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बदायूंः बीएसपी एमपी और राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र कश्यप की बहू और पूर्व राज्यमंत्री हीरालाल की बेटी की बेलेस्टिक रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, जीएसआर रिपोर्ट निगेटिव है। इसका मतलब यह हुआ कि गोली हिमांशी ने नहीं चलाई थी, बल्कि उसका मर्डर किया गया है। अगर हिमांशी ने गोली चलाई होती तो उसके हाथ में बारूद के कुछ कण लगे होते।

आगरा फोरेंसिक साइंस लेब्रोरेटरी की बेलेस्टिक यूनिट ने एक महीने चले टेस्ट के बाद मंगलवार को यह रिपोर्ट दी है। इससे पता चलता है कि उसने सुसाइड नहीं किया था, बल्कि उसका मर्डर हुआ था। इस रिपोर्ट से जेल में बंद नरेंद्र कश्यप और उनके परिवार की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

यह भी पढ़ें... दहेज के लिए मर्डर? BSP MP नरेंद्र कश्यप बेटा-पत्नी सहित पहुंचे जेल

क्या है मामला ?

-हिमांशी कश्यप की मौत 6 अप्रैल को गाजियाबाद स्थित ससुराल में गोली लगने से हुई थी।

-हिमांशी खून से लथपथ हालत में बाथरूम में मिला था।

-गोली एमपी नरेंद्र कश्यप के लाइसेंसी रिवॉल्वर से चली थी।

-हिमांशी को नेहरू नगर स्थित यशोदा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

-जहां इलाज के दौरान डाॅक्टरों ने हिमानी को मृत घोषित कर दिया था।

-हिमांशी के पिता सागर भी इसी हॉस्पिटल में डॉक्टर हैं।

यह भी पढ़ें... BSP MP की बहू हिमांशी का हुआ मर्डर, शरीर पर मिले चोट के गहरे निशान

पिता हीरालाल ने लगाए थे ये आरोप

-गाय की तरह थी मेरी बेटी को दहेज की खातिर मार दिया गया।

-फॉर्च्युनर की डिमांड कर रहे थे। हार मांग रहे थे।

-बेटी ससुराल नहीं जा रही थी। मैंने और घरवालों ने समझाकर उसे भेजा था।

-पता नहीं था कि ये लोग जान ही ले लेंगे।

हीरालाल ने और क्या कहा था ?

-बेटी के शरीर पर चोटों के काफी निशान हैं। उसके बाल भी टूटे थे।

-आखों में घूंसे मारे गए थे, नाक टूटी थी, गला लाल पड़ा था, सिर की हड्डी टूटी हुई थी।

-दो गोली मारी गई थी। हाथ मोड़कर टेढ़े कर दिए गए थे। पीठ पर चोट के निशान थे।

-हिमांशी के पिता हीरालाल कश्यप ने कहा था- सुसरालवाले फॉर्च्युनर गाड़ी की मांग कर रहे थे।

-मैंने कुछ दिन में गाड़ी देने का आश्वासन दिया था, लेकिन उन लोगों ने मेरी बेटी को मार डाला। उसकी हत्या कर दी।

तीन साल पहले हुई थी शादी

-सांसद का परिवार संजय नगर के सेक्टर 23 में रहता है। एमपी के बड़े बेटे सागर की शादी हिमांशी से 3 साल पहले हुई थी।

-दोनों का एक तीन साल का बेटा भी है।

-बताया जाता है कि कुछ दिनों से पारिवारिक कलह चल रही थी। पुलिस हिमांशी की मौत के कारणों की जांच में जुटी है।

हिमांशी ने कहा था-पापा मुझे ये लोग मार डालेंगे

-हीरा लाल ने बताया था कि अभी कुछ दिन पहले ही उसने फर्स्ट डिवीजन में बीएड पास किया था।

-25 तारीख को उसने बदायूं आने को कहा था, लेकिन ससुरालवालों ने आने नहीं दिया।

-कुछ दिन पहले वो घर आई थी तो उसने कहा था कि पापा ये लोग मुझे मार डालेंगे।

-मैंने उसे समझा-बुझाकर भेजा था कि कुछ नहीं होगा।

Newstrack

Newstrack

Next Story