Top

यूपी के पूर्व मंत्री ने मनाया पुनर्जन्म उत्सव, 2010 में हुआ था हमला

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 12 July 2016 10:05 PM GMT

यूपी के पूर्व मंत्री ने मनाया पुनर्जन्म उत्सव, 2010 में हुआ था हमला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इलाहाबादः यूपी की बीएसपी सरकार में मंत्री रहे नंदगोपाल गुप्ता उर्फ नंदी ने मंगलवार को पुनर्जन्म उत्सव किया। दरअसल, साल 2010 में उनपर जानलेवा हमला हुआ था। उस दौरान नंदी बुरी तरह घायल हुए थे और लंबे समय तक अस्पताल में रहकर मौत को मात दी थी। इसे ही वह अपना पुनर्जन्म मानते हैं। उन्होंने जिस शान से पुनर्जन्म उत्सव मनाया, उसकी चर्चा पूरे शहर में हो रही है।

alld1 लोगों के लिए खाना बनाते हलवाई

उत्सव में क्या हुआ?

-पूर्व मंत्री ने अपने बहादुरगंज इलाके को पूरी तरह सजवाया था।

-पुनर्जन्म की दास्तां दिखाने के लिए शहर में हजारों होर्डिंग भी लगाई थी।

-हलवाई बुलवाकर 56 किस्म के व्यंजन भी नंदगोपाल नंदी ने बनवाए।

-आसपास की सड़कें बंद करा दी। इससे जाम लग गया। पुलिस की मौजूदगी में ड्रोन कैमरों से सुरक्षा पर नजर रखी गई।

-नंदी की पत्नी इलाहाबाद की मेयर हैं। इस वजह से भी उत्सव को प्रशासन ने पूरा सहयोग दिया।

alld2 नंदगोपाल नंदी ने पूरे इलाके को जमकर सजवाया भी था

पूर्व मंत्री ने और क्या किया?

-मोबाइल से 50 लाख मैसेज करके पूरे इलाहाबाद की जनता को उत्सव का न्योता दिया।

-नंदगोपाल गुप्ता ने दावा किया है कि पुनर्जन्म उत्सव में उन्होंने 70 हजार से ज्यादा लोगों को भोजन कराया।

-फिलहाल बीएसपी में नहीं हैं नंदगोपाल, अपने लिए तलाश रहे हैं सियासी जमीन।

alld3 मौके पर तैनात पुलिस

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story