Top

खीरी और रायबरेली में भी गैंगरेप, दोनों जगह मामला दबाने में जुटी पुलिस

By

Published on 4 Aug 2016 5:44 PM GMT

खीरी और रायबरेली में भी गैंगरेप, दोनों जगह मामला दबाने में जुटी पुलिस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखीमपुर-खीरी / रायबरेली: यूपी में गैंगरेप के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं, यही नहीं गैंगरेप जैसे जघन्य वारदातों के बाद पुलिस पर भी मामलों को दबाने के आरोप लग रहे हैं। ताजा मामला यूपी के लखीमपुर खीरी और रायबरेली का है। जहां लखीमपुर खीरी में बाइक सवार तीन दरिदों ने एक नाबालिग स्टूडेंट का गैंगरेप किया तो वहीं रायबरेली में एक महिला को गांव के ही चार लोगों ने अपनी हवस का शिकार बनाया।

क्या है पहला मामला?

-घटना लखीमपुर खीरी के मैगलगंज थाने की है।

-जहां जिला पंचायत इंटर कॉलेज की हाईस्कूल की एक नाबालिग स्टूडेंट स्कूल से छुट्टी होने के बाद बुधवार को साइकिल से अपने घर जा रही थी।

-इसी दौरान औरंगाबाद-मैगलगंज मार्ग पर एक बाइक पर सवार तीन युवकों ने उसकी साइकिल में टक्कर मार दी, जिससे वह गिर गई।

-इसके बाद तीनों युवक गन्ने के खेत में युवती को खींच ले गए और उसके साथ गैंगरेप किया।

-तभी उधर से गुजर रहे एक ग्रामीण चंद्रशेखर शुक्ल निकले, जिन्हें देखकर सभी आरोपी फरार हो गए।

क्या कहना है ग्रामीण चंद्रशेखर शुक्ल का ?

-विक्टिम के पड़ोसी गांव निवासी चंद्रशेखर शुक्ल बताते हैं कि विक्टिम को जिस अवस्था में उन्होंने देखा तो उन्हें अपनी आंखे बंद करनी पड़ी।

-रो-रो कर विक्टिम ने अपने साथ हुई जुल्म की दास्तान उन्हें सुनाई।

-वह विक्टिम को उसके घर लेकर गए। जहां पर उन्होंने उसके पिता को पूरा मामला बताया।

यह भी पढ़ें ... सेल्स गर्ल को लिफ्ट देकर जंगल में गैंगरेप, कपड़े भी ले भागे बदमाश

आरोपी युवकों की पहचान

-आरोपी युवकों की पहचान सुमित, शिवम और हनीफ निवासी औरंगाबाद के रूप में हुई है।

-तीनों आरोपी औरंगाबाद में एक मोबाइल शॉप चलाते हैं।

पुलिस ने दर्ज किया छेड़छाड़ का मुकदमा

-विक्टिम के पिता का आरोप है कि उनसे थाने में तहरीर नहीं ली गई।

-पुलिस और गांव के प्रधान ने मन माफिक मुकदमा दर्ज करवाया।

-पुलिस ने छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया।

यह भी पढ़ें ... हर दिन रौंदी जा रही रेप विक्टिम्स की इज्जत, दुकानों में बिक रहे MMS

विक्टिम को धमकाते रहे महिला सिपाही और दारोगा

-मैगलगंज थाने के इंस्पेक्टर अवधेश कुमार विक्टिम को प्राइवेट वैन से बिना उसके माता पिता के ही मेडिकल टेस्ट के लिए डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल ले गए।

-इतना ही नहीं पुलिस ने बाद में वैन का किराया भी विक्टिम के पिता से वैन स्वामी को दिलवाया।

यह भी पढ़ें ... अब कानपुर में गैंगरेप, प्रधान ने नाबालिग को अगवाकर किया कुकर्म

क्या है दूसरा मामला?

-घटना यूपी के रायबरेली जिले के डीह थाना क्षेत्र की है।

-जहां एक महिला के साथ मारपीट कर चार लोगों ने गैंगरेप किया।

-विक्टिम महिला का आरोप है कि बुधवार रात जब वह अपने घर में सो रही थी तभी गांव के ही चार लोग उसके घर घुस आए और उसका मुंह दबा दिया।

-विक्टिम ने शोर मचाना चाहा तो बदमाशों ने चारपाई पर उसका हाथ-पैर बांध कर उसके साथ गैंगरेप किया।

विक्टिम ने की आरोपियों की पहचान

-विक्टिम महिला के अनुसार उसने आरोपियों को पहचान लिया है।

-विक्टिम का आरोप है कि गांव के प्रधान समेत चार लोग इस घटना में शामिल थे।

यह भी पढ़ें ... दिव्यांग युवती से मकान मालिक और जीजा ने नशे में किया रेप, दोनों अरेस्ट

विक्टिम को पुलिस ने थाने से भगाया

-विक्टिम के अनुसार, किसी तरह जब वह थाने पहुंची तो उसे पुलिस ने भगा दिया।

-जब मामला मीडिया में आया तो पुलिस ने आनन-फानन में मामला दर्ज कर विक्टिम को मेडिकल के लिए डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल भेज दिया।

-जहां विक्टिम का इलाज चल रहा है।

-इस मामले में सीओ सिटी ने बताया कि सभी अधिकारी इस मामले की जांच में जुट गए हैं।

Next Story