×

घात लगाए बदमाशों ने स्वर्ण व्यवसायी पिता-पुत्र को मारी गोली, बेटे की मौके, लूटा बैग

aman

amanBy aman

Published on 6 Oct 2017 8:18 PM GMT

घात लगाए बदमाशों ने स्वर्ण व्यवसायी पिता-पुत्र को मारी गोली, बेटे की मौके, लूटा बैग
X
घात लगाए बदमाशों ने स्वर्ण व्यवसायी पिता-पुत्र को मारी गोली, बेटे की मौत, लूटा बैग
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कुशीनगर: जिले में तीन दिन पहले जिला मुख्यालय पर हुए दवा व्यवसायी के हत्या का मामला अभी सुलझा भी नहीं था कि शुक्रवार (06 दिसंबर) देर शाम एक बार फिर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों ने पुलिस को चुनौती देते हुए एक स्वर्ण व्यवसायी को मौत के घाट उतार दिया।

जिले के पटहेरवा थाना क्षेत्र के फाजिलनगर कस्बे में बाइक सवार बदमाशों ने पिता-पुत्र दोनों को उस समय गोली मार दी, जब वो अपनी दुकान बंदकर घर पहुंचे थे। घर के बाहर घात लगाए बदमाशों ने दोनों को गोली मारने के बाद उनका बैग लूट ले गए। इस घटना में जहां स्वर्ण व्यवसायी के बेटे की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं पिता को प्राथमिक इलाज के बाद डॉक्टरों ने गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया।

ये है मामला

फाजिलनगर कस्बा निवासी नंदलाल वर्मा का ज्वेलरी की दुकान है। नंदलाल व उनके बेटे अभिषेक वर्मा रोज की भांति देर शाम 8 बजे के करीब अपनी दुकान बंदकर बाइक से घर आए। जैसे ही उनकी बाइक घर के बाहर पहुंची दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने दोनों पर गोलियां बरसा दी। गोली सीने में लगने के कारण 25 वर्षीय अभिषेक की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, 55 वर्षीय नंदलाल वर्मा गंभीर रूप से घायल हो गए।

पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने पिता-पुत्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने अभिषेक को मृत घोषित कर दिया। प्राथमिक इलाज के बाद नंदलाल की गंभीर को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। स्थानीय लोगों ने शव को सीएचसी में ही रखकर पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

डेढ़ वर्ष पहले ही हुई थी मृतक की शादी

घटना की जानकारी मिलते ही भारी पुलिस बल के साथ कुशीनगर पुलिस कप्तान भी पहुंचे। उन्होंने घटना से गुस्साए लोगों को समझने-बुझाने का प्रयास किया। खबर लिखे जाने तक लोगों ने अभिषेक के शव को घेरकर नारेबाजी कर रहे थे। प्रदर्शनकारी शव का पंचनामा नहीं होने दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि मृतक दो भाइयों में बड़ा था। इसकी डेढ़ वर्ष पूर्व शादी हुई थी।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story