Top

अखिलेश के करोड़पति मंत्री का कारनामा, बेटी को दिलवाया कन्या विद्या धन

Admin

AdminBy Admin

Published on 26 March 2016 11:33 AM GMT

अखिलेश के करोड़पति मंत्री का कारनामा, बेटी को दिलवाया कन्या विद्या धन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूं तो यूपी के खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं, लेकिन उनकी बेटी को बीपीएल कोटे से कन्या विद्या धन मिला है। इसे लेकर लोकायुक्त से गायत्री के खिलाफ फिर शिकायत हुई है। मंत्री पर अपनी बेटी को गलत तरीके से कन्या विद्या धन दिलवाने का आरोप लगा है। प्रॉपर्टी डीलर से खनन मंत्री बनें गायत्री प्रसाद प्रजापति के पास मौजूदा समय में 1.83 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है। वर्ष 2012 के एसेंबली इलेक्शन में दाखिल एफिडेविट में गायत्री ने खुद अपनी संपत्ति का यह आंकड़ा घोषित किया था।

क्या कहा गया है शिकायत में?

-फैजाबाद के रहने वाले रजनीश कुमार सिंह ने इस मामले में लोकायुक्त से शिकायत की है।

-कन्या विद्या धन योजना सिर्फ गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वालों के लिए होती है।

-फिर कैसे इस योजना में मंत्री की बेटी का नाम शामिल कर लिया गया।

-मंत्री यह कहकर नहीं बच सकते कि यह मेरी जानकारी में नहीं है।

-कन्या विद्या धन योजना में छात्र, माता-पिता और प्रिंसिपल से शपथ पत्र लिया जाता है।

-पूर्व में गायत्री के खिलाफ ओम शंकर दि्वेदी ने जो शिकायत की थी, उसमें 1727 पन्नों में लगाए गए साक्ष्यों के जांच की मांग।

-मंत्री के बेटे और पत्नी भी कई कम्पनियों के मालिक हैं। इसकी भी जांच की जाए।

-साक्ष्य के तौर पर समाचार पत्रों की कटिंग भी लगाई गई है।

ये भी पढ़ें: DoPT ट्रेनिंग को लेकर हुआ सख्त, प्रमोटी IAS अफसरों में मची खलबली

क्या कहते हैं रजनीश सिंह ?

-आठ मार्च को खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ लोकायुक्त के यहां शिकायत की थी।

-मुझे इस पर कार्रवाई का मौखिक आश्वासन दिया गया है।

2013 में गायत्री बनें राज्यमंत्री

-अमेठी के विधायक गायत्री प्रजापति को सरकार बनते ही मंत्री नहीं बनाया गया था।

-जब पहली बार फरवरी 2013 में मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ, तब 11 मंत्रियों के साथ गायत्री को भी राज्यमंत्री बनाया गया।

-उन्हें खनन जैसे महत्वपूर्ण विभाग की जिम्मेदारी दी गई।

-बसपा सरकार में यह विभाग कभी मायावती के करीबी रहे पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा के पास था।

ये भी पढ़ें...जुगुल किशोर के रास्ते पर नसीमुद्दीन,बसपा जोनल को-आर्डिनेटरों में आक्रोश

गायत्री प्रसाद प्रजापित से जुड़े विवाद

-वर्ष 2012 में ओमशंकर दि्वेदी ने प्रजापति पर आय से अधिक संपत्ति जमा करने का आरोप लगाया था।

-इसमें कहा गया था कि 2012 विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन में गायत्री ने अपनी कुल संपत्ति 1.81 करोड़ रुपए बताई थी जो अब बढ़कर 942.57 करोड़ रुपए हो गई है।

-इसके पहले गायत्री प्रसाद प्रजापति पर लखनऊ में ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा कर प्लॉट बेचने का आरोप लगा था।

-इसके अलावा गायत्री के बेटे पर अमेठी में तहसील की सरकारी जमीन पर कब्जा करने का आरोप भी लग चुका है।

-पूर्व में अमेठी की एक विधवा ने गायत्री प्रसाद प्रजापति पर अपनी जमीन पर कब्जा करने का आरोप भी लगाया था। अपनी गुहार लेकर पीड़ित विधवा अपने परिवार के साथ लखनऊ में धरने पर बैठ गई थी|

-गायत्री के बेटे अनुराग पर एक महिला का अपहरण करने का भी आरोप लग चुका है।

-खनन मंत्री उस वक्त भी सुर्खियों में आ गए थे, जब नोएडा में अवैध खनन के खिलाफ IAS अफसर दुर्गा शक्ति नागपाल के अभियान को उन्होंने अपनी योजना बताया था।

नीचे देखिए, शिकायत की लिखित कॉपी...

complaint complaint-two

साथ ही तस्वीरों में देखिए, कितनी संपत्ति के मालिक हैं मंत्री गायत्री...

ministergayatri-ministerbpl bpl-one

bpl-final

Admin

Admin

Next Story