Top

विरोध की आशंकाओं के बीच सजी गुलाम अली की महफिल, राज्यपाल भी बने श्रोता

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 7 Feb 2016 3:30 PM GMT

विरोध की आशंकाओं के बीच सजी गुलाम अली की महफिल, राज्यपाल भी बने श्रोता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: विरोध की आशंकाओं के बीच पाकिस्तानी गजल गायक गुलाम अली ने रविवार शाम लखनऊ महोत्सव में महफिल सजाई। राज्यपाल राम नाईक, मुख्य सचिव आलोक रंजन और डीएम राज शेखर ने उनका स्वागत किया। महरून कुर्ते और सफेद पठानी पायजामा पहने गुलाम अली ने महोत्सव में आने की खुशी जताई।

बीते साल 9 अक्टूबर को गुलाम अली का मुंबई में होने वाला कार्यक्रम शिवसेना के विरोध के बाद रद्द कर दिया गया था। इसको देखते हुए प्रशासन ने ऐहतियातन शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह को उनके घर पर नजरबंद कर दिया। शनिवार को गुलाम अली के लखनऊ पहुंचने पर प्रदेश के प्रमुख सूचना सचिव नवनीत सहगल ने अगवानी की।

[su_slider source="media: 7894,7890,7891,7887,7889,7886,7895,7888,7892,7893,7896" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"]

Newstrack

Newstrack

Next Story