Top

सोसायटी में कोरोना विस्फोट: 300 परिवार संक्रमित, RWA ने लगाई मदद की गुहार

गाजियाबाद में आरडब्ल्यूए (RWA) हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाले 300 से ज्यादा परिवार कोरोना से संक्रमित(Corona Infected) हो गये हैं।

Network

NetworkPublished By NetworkVidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 5 May 2021 10:13 AM GMT

सोसायटी में कोरोना विस्फोट: 300 परिवार संक्रमित, RWA ने लगाई मदद की गुहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद: गाजियाबाद के इंदिरापुरम से हैरान-परेशान करने वाली खबर आ रही है। यहां पर आरडब्ल्यूए (RWA) हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाले 300 से ज्यादा परिवार कोरोना से संक्रमित(Corona Infected) हो गये हैं। ऐसे में यूपी सरकार को भेजे SoS में आरडबल्यूए ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए तत्काल मदद की अपील की है। जबकि यहां बीते 30 दिनों में कोरोना संक्रमण से 9 लोगों की मौत हो चुकी है।

इस बारे में आम्रपाली विलेज RWA के मुताबिक, 1002 फ्लैट्स वाली सोसाइटी में मध्य अप्रैल से ही संक्रमण फैल रहा है। इसके साथ ही ये दावा किया गया है कि बीते 30 दिनों में 9 मौतें हुई हैं। यहां रहने वाले लोगों ने अस्पताल में बेड और ऑक्सीजन के लिए काफी भागदौड़ की है।

सूत्रों से सामने आई खबर के मुताबिक, सोसाइटी में ऐक्टिव कोरोना केसों की संख्या की अभी तक पुष्टि नहीं हो सकी है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार वे RWA की तरफ से शेयर की गई संख्या को देखेंगे। SOS से एक दिन पहले जिला प्रशासन ने सोसाइटी को सील कर दिया था। पर संक्रमण को चेक करने के मानकों को चेक नहीं किया गया।


इस पर RWA के मुताबिक, सोसाइटी में पांच मरीजों की हालत गंभीर हैं, जिन्हें ऑक्सीजन और हॉस्पिटल में भर्ती कराने की जरूरत है। बीते 10 अप्रैल को सोसाइटी में कोरोना के करीब 20 मामले सामने आए थे। लेकिन 21 अप्रैल तक 120 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। वहीं 4 मई तक यह संख्या 350 के करीब पहुंच गई है।

बढ़ते मामलों को लेकर RWA प्रेसिडेंट दीपक कुमार आरोप है कि हमने आम्रपाली विलेज की तरफ से प्रशासन को मामले की सूचना दी थी। लेकिन, कोई ऐक्शन नहीं लिया गया. दो हफ्ते के बाद सोसाइटी को सील कर दिया गया। सीलिंग ऑर्डर 25 अप्रैल का था और किया गया 3 मई को। यहां हालात बहुत खराब हैं। लोग ऑक्सीजन और बेड की किल्लत से जूझ रहे हैं।

आगे उन्होंने कहा कि हमारे पास 8 सिलेंडर हैं, जिन्हें गंभीर हालत वाले मरीजों को दिया जा रहा है। वे भी खत्म हो गए हैं, जिन्हें रिफिल कराना बड़ा चैलेंज है।

वहीं आरडबल्यूए के मुताबिक, प्रदेश सरकार को ट्वीट कर मदद मांगने के बावजूद भी प्रशासन की तरफ से संपर्क नहीं किया गया। डीएम कृष्णा करुणेश और सीएमओ डॉक्टर सुनील त्यागी ने कहा है कि वे इस मामले को देखेंगे।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story