यूपी में लड़की ने लगाया गुरूद्वारे प्रधान पर शारीरिक शोषण का आरोप

Published by Gagan D Mishra Published: September 12, 2017 | 7:12 pm
Modified: September 12, 2017 | 7:16 pm
यूपी में लड़की ने लगाया गुरूद्वारे प्रधान पर शारीरिक शोषण का आरोप यूपी में लड़की ने लगाया गुरूद्वारे प्रधान पर शारीरिक शोषण का आरोप

कानपुर: सच्चा डेरा सौदा के गुरमीत राम रहीम पर आरोप सिद्ध होने के बाद उसको जेल की सजा हो गयी लेकिन कुछ ऐसे बाबा है जो लड़कियों का शारीरिक शोषण करने के बाद भी खुलेआम घूम रहे है | मामला है कानपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र का जहां एक गुरुद्वारे में सेवादारी करने वाली लड़की ने गुरूद्वारे के प्रधान पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाकर सनसनी मचा दी । पुलिस में शिकायत करने के बाद भी जब लड़की की रिपोर्ट दर्ज नहीं हुयी तो उसने न्यायालय की शरण में जाना पड़ा । लड़की ने अपने साथ हुए शारीरिक शोषण की शिकायत पीएमओ आफिस में भी की है।

यह भी पढ़ें…कानपुर जा रहे रैना के साथ हुआ कुछ यूं कि बाल बाल बची जान !

जिले के कल्याणपुर क्षेत्र की रहने वाली लड़की 10 सालो से सरसैय्या घाट पर बने गुरूद्वारे में सेवादारी करती थी। लड़की ने गुरुद्वारा प्रधान इंद्रजीत सिंह पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ थाने में शिकायत की थी । शिकायत करने के बाद भी पुलिस ने मुकदमा लिखने से पहले जांच करने की बात कही, जिसके बाद पीड़ित लड़की न्यायालय पहुंच गयी । लड़की के मुताबिक गुरूद्वारे के पास गरीब बच्चो का स्कूल खुला हुआ है । गुरूद्वारे का प्रधान इंद्रजीत वहां के बच्चो से अश्लील हरकते करता था, जिसको उसने देख लिया था । उसके बाद से इंद्रजीत मेरे साथ भी अश्लील हरकते करने लगा ।

पीड़ित के मुताबिक, उसने एसएसपी ऑफिस में इंद्रजीत के खिलाफ शिकायत की थी लेकिन चौदह दिन बीतने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुयी । इंद्रजीत आठ सालो से गलत हरकते करता रहा था तब वह आठ साल पहले इसकी शिकायत चौकी पर की थी तब उसको पुलिस ने डांटकर मामला ख़त्म करा दिया था । उसके बाद से गुरूद्वारे के प्रधान और दूसरे लोग मुहं न खोलने का दबाव बनाने लगे ।

लड़की का कहना है की जैसे गुरमीत राम रहीम को सजा हुयी है वैसे ही इसको भी सजा होनी चाहिए । पीड़ित लड़की का कहना है की इंद्रजीत को सख्त से सख्त सजा मिले जिससे मेरी तरह वो किसी और के साथ गलत ना कर सके ।

यह भी पढ़ें…राष्ट्रपति दौरे से पहले कानपुर में मिला देसी बम, प्रशासन में मचा हड़कंप

पीड़िता ने 14 दिन पहले पुलिस ने इंद्रजीत के खिलाफ शिकायत की थी लेकिन जब इतने दिन बीत जाने के बाद पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की तो उसने माननीय न्यायालय की शरण में पहुंच गयी । पीड़िता के अधिवक्ता मनोज शुक्ला का कहना है की धर्म के नाम पर लोग किस तरह की हरकते करते है । पीड़ित लड़की ने बताया की वंहा के प्रधान ने गलत हरकत की है तब लड़की की तरफ से प्राथना पत्र पुलिस के आला अधिकारियो को दिया गया । प्राथना पत्र देने के बाद भी पुलिस कार्यवाही करने के बजाय सिर्फ जांच कर रही है । पीड़ित के अधिवक्ता का कहना है की पुलिस अगर कोई कार्यवाही नहीं करेगी तो हम लोग न्यायालय की शरण में जायेंगे ।

वंही इस पूरे मामले पर जब इंद्रजीत सिंह से बात की तो उसने अपने आप को पूरी तरह से निर्दोष बताया | इंद्रजीत सिंह का कहना है की यह लोग गलत आरोप लगाकर ब्लेकमैल कर रहे है ।

यह भी पढ़ें…CM की सौगात: कानपुर में 850 करोड़ की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण