×

Indian Railway: चुनावी पटरी पर पूर्वोत्तर रेलवे, सहजनवा, बलरामपुर, घुघली रेल लाइन के लिए मिले 1025 करोड़

Indian Railway: पूर्वोत्तर रेलवे को कुल 5,813.20 करोड़ आवंटित हुए हैं। यहां यात्री सुविधाओं के लिए 569 करोड़ का बजट आवंटित हुआ है। इस बजट से स्टेशनों पर पर्याप्त संख्या में स्वचलित सीढ़ियां, लिफ्ट, अत्याधुनिक प्रतीक्षालय और खानपान यूनिट की सुविधाओं का विकास किया जाएगा।

Purnima Srivastava
Published on: 3 Feb 2024 2:33 AM GMT
Gorakhpur News
X

महाप्रबंधक सौम्या माथुर (Newstrack)

Indian Railway: आम बजट में भले ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकलुभावन घोषणाएं नहीं की हो, लेकिन पूर्वोत्तर रेलवे को मिले बजट से साफ है कि उन्हें आधा दर्जन संसदीय क्षेत्रों को रेल लाइन के जरिये साधने की साफ चिंता है। पूर्वोत्तर रेलवे में तीन रेल लाइन के लिए 1025 करोड़ रुपये मिले हैं। इसमें सहजनवा रेल लाइन को 110, खलीलाबाद-बलरामपुर के लिए 620, घुघली रेल लाइन के लिए 275 करोड़ का बजट मिला है।

महराजगंज में रेल लाइन के लिए दावे करने वाले केन्द्रीय मंत्री पंकज चौधरी की नीयत पर हमेशा संदेह रहता है और उन्हें विरोधी भी घेरते हैं। लेकिन बजट में 275 करोड़ मिलने से विरोध को खामोश करने की कोशिश हुई है। इसी तरह बांसगांव संसदीय क्षेत्र में सांसद कमलेश पासवान के भाषणों में सहजनवा से बड़हलगंज रेल लाइन का मुद्दा प्रमुखता से रहता है। इसके लिए 110 करोड़ रुपये मिला है। इसी तरह खलीलाबाद से बलरामपुर के लिए सर्वाधिक 620 करोड़ मिला है। इससे करीब 4 संसदीय क्षेत्र के दावेदारों को चुनावी संजीवनी मिलती दिख रही है।

गोरखपुर रेलवे स्टेशन (Newstrack)

रेल लाइन के लिए तेजी से चल रहा जमीन अधिग्रहण

खलीलाबाद-श्रावस्ती-बलरामपुर रेल लाइन के प्रथम चरण में खलीलाबाद से बांसी तक लगभग 55 किमी रेल लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए 82 गांव के 260 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण का काम लगभग पूरा हो चुका है। लिडार सर्वे भी हो चुका है। संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, श्रावस्ती और बहराइच सहित कुल पांच जनपद को जोड़ने वाले इस रेलमार्ग पर कुल 32 स्टेशन होंगे। जिसमें चार जंक्शन, 16 क्रासिंग और 12 हाल्ट होंगे। इसके अलावा 34 बड़े और 86 छोटे पुल बनेंगे। इस लाइन के लिए 620 करोड़ मिलने से कार्य की गति काफी तेजी हो जाएगी।

तीन साल में बिछेगी लाइन

81 किमी लंबी सहजनवा-दोहरीघाट रेल लाइन तीन साल में बिछा दी जाएगी। यह प्रोजेक्ट तीन चरणों में पूरा होगा। पहला चरण मार्च 2025 में पूरा होगा। इसमें सहजनवा से बैदौली तक 27 किलोमीटर तक रेल लाइन बिछाई जाएगी। दूसरे चरण का काम मार्च 2026 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसमें बैदौली से गोलाबाजार तक 29 किलोमीटर तक लाइन बिछाई जाएगी। तीसरे और अंतिम चरण का काम मार्च 2027 में पूरा हो जाएगा। इसमें गोलाबाजार से न्यू दोहरीघाट तक 25.5 किलोमीटर रेल लाइन बिछाई जाएगी। इस रेल लाइन पर भी ट्रेनें 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगी।

पूर्वोत्तर रेलवे को कुल 5,813.20 करोड़ आवंटित

पूर्वोत्तर रेलवे को कुल 5,813.20 करोड़ आवंटित हुए हैं। यहां यात्री सुविधाओं के लिए 569 करोड़ का बजट आवंटित हुआ है। इस बजट से स्टेशनों पर पर्याप्त संख्या में स्वचलित सीढ़ियां, लिफ्ट, अत्याधुनिक प्रतीक्षालय और खानपान यूनिट की सुविधाओं का विकास किया जाएगा। यात्री सुविधाओं के मद में पिछले साल महज 328 करोड़ का बजट मिला था। एनईआर को सबसे अधिक धन दोहरीकरण और तीसरी लाइन के लिए (1057 करोड़ रुपये) मिला है। इससे गोरखपुर कैंट-वाल्मीकिनगर और भटनी-औड़िहार दोहरीकरण तथा कुसम्ही-गोरखपुर-डोमिनगढ़ तीसरी रेल लाइन के निर्माण कार्य में तेजी आएगी। कई अन्य सहूलियतें भी मिलेंगी। हालांकि इस बार दोहरीकरण और तीसरी लाइन के मद में एनईआर को पिछले बजट के मुकाबले 475 करोड़ रुपये कम आवंटित किए गए हैं।

Jugul Kishor

Jugul Kishor

Content Writer

मीडिया में पांच साल से ज्यादा काम करने का अनुभव। डाइनामाइट न्यूज पोर्टल से शुरुवात, पंजाब केसरी ग्रुप (नवोदय टाइम्स) अखबार में उप संपादक की ज़िम्मेदारी निभाने के बाद, लखनऊ में Newstrack.Com में कंटेंट राइटर के पद पर कार्यरत हूं। भारतीय विद्या भवन दिल्ली से मास कम्युनिकेशन (हिंदी) डिप्लोमा और एमजेएमसी किया है। B.A, Mass communication (Hindi), MJMC.

Next Story