×

Basti News: लाखों की सरकारी दवा कूड़ेदान में, एक्सपायर होने पर फेंक दिया गया, जिम्मेदार कौन ?

Basti News Today: बस्ती जिले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और ड्रग्स माफियाओं की मिलीभगत से लाखों की दवा कूड़ेदान में फेंक दिया गया है।

Amril Lal
Report Amril Lal
Updated on: 10 Sep 2022 2:06 PM GMT
Government medicine worth lakhs was thrown in the dustbin after expiry, who is responsible?
X

बस्ती: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लाखों की सरकारी दवा कूड़ेदान में

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Basti News: बस्ती जिले में स्वास्थ्य विभाग का कारनामा सामने आया है जहां आयरन की दवाओं को कूड़ेदान में फेंक दिया गया है। यह दवाएं एक्सपायर हैं और कई लाखों की हैं। ताजा मामला बस्ती जिले के साहू घाट विकासखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (community health center) घाट का है। जहां डॉक्टरों और कर्मचारियों सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से कई लाख की दवा कूड़ेदान में फेंक दिया गया है।

डॉक्टरों की लापरवाही से मरीजों को नहीं बांटी जा रही थी यह दवा जिसके कारण एक्सपायर हो गई हैं। वही जिम्मेदार बड़ा मामला होने के नाते जिम्मेदार अधिकारी इस प्रकरण पर कुछ भी बोलना नहीं चाह रहे हैं। कई बार प्रयास किया गया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी बस्ती से बात किया गया तो उन्होंने यह बताया कि हम इसकी जांच कर रहे दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे उसके बाद बयान देंगे।

जनता का पैसा बर्बाद करने में कोई कोताही नहीं छोड़ते हैं

वहीं जहां प्रदेश सरकार दावा कर रही है कि स्वास्थ्य विभाग को सुधारने के लिए और मरीजों को सरकारी अस्पतालों में सही इलाज हो साथ ही अब अस्पतालों में दवा भी उपलब्ध है लेकिन कहीं ना कहीं स्वास्थ्य विभाग अधिकारी और डॉक्टरों की मिलीभगत के कारण यह दवा एक्सपायर हो गई है और कूड़ेदान में फेंक दिया गया कहीं ना कहीं इस खरीदारी में जनता का पैसा लगा था कईयों लाख की दवा की जा रही है।

लाखों की दवा खरीद कर कूड़ेदान में फेंक दिया गया

ऐसे में मुख्यमंत्री के आदेश और सरकार की मंशा के अनुरूप काम बस्ती जिले में स्वास्थ्य विभाग नहीं कर रहा है। डॉक्टरों की लापरवाही से अस्पतालों में जो मरीज आते हैं उनको मजबूरन बाहर से दवा खरीदने हैं और अस्पतालों की दवा खराब हो जा रही है जिससे उन दवाओं को कूड़ेदान में फेंका जा रहा है। जब इस संबंध में प्रभारी जिला अधिकारी बस्ती और मुख्य विकास अधिकारी बस्ती राजेश प्रजापति से उनके मोबाइल नंबर पर बात करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story