बाढ़ में जब फंस गई दूल्हे की कार, तो ट्रैक्टर ट्राली से दुल्हन लेने पहुंच गए दिलदार

Published by Published: August 17, 2017 | 11:22 am
Modified: August 17, 2017 | 12:44 pm
बाढ़ ने जब फंस गई दुल्हे की कार, तो ट्रैक्टर ट्राली से दुल्हन लेने पहुंच गए दिलदार

बहराइच: बहराइच की तीन तहसीलों महसी, कैसरगंज व मोतीपुर के लाखों लोग जहां बाढ़ की त्रासदी झेल रहे हैं। इन इलाकों में बाढ़ का पानी क्या घर, क्या बाहर हर जगह लबालब भरा है। प्रशासन नावों के सहारे लोगों को ऊपरी इलाकों में सुरक्षित पहुचाने में जुटा है।

लोग जब किसी तरह पेड़ पर छप्पर बैठकर जीवन बचाने की जद्दोजहद में लगे हैं। इस भीषण आपदा के बावजूद कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो अपने मांगलिक आयोजन भी हर हाल में निपटाने पर आमादा हैं। जिले के सलमान की ही बात करें जो दूल्हा बनकर इस बाढ़ से बेपरवाह शादी करने निकले हैं।

घर से कार में बैठकर ससुराल के लिए निकले थे, लेकिन जब बाढ़ में जाने से कार वाले ने मना कर दिया तो दूल्हा सलमान ससुराल से आए ट्रैक्टर ट्राली पर ही सवार होकर बारातियों संग चल निकले। इनका कहना था कि हम तो दिल वाले हैं दुल्हनिया लेकर ही जाएंगे।

आगे की स्लाइड में पढ़िए इस शादी की अनोखी कहानी

जिले की महसी तहसील के बौंडी इलाके का बीते दो दिनों के दौरान इस इलाके के 75 फीसद भूभाग पर घाघरा का पानी बाढ़ बनकर तबाही मचा रहा है। बौंडी बाजार थाना, स्कूल समेत पूरे गांव में पानी ही पानी है। इतना ही नहीं इस क्षेत्र के कई गांवों में संपर्क पूरी तरह कटा है। लोगों को अपने घर पहुंचने के लिए कहीं घुटने से ऊपर तो कहीं कमर से ऊपर पानी मे चलकर अपने घर पहुंचना पड़ रहा है।

लेकिन इस सबके बीच इसी इलाके में आज कुछ अलग नजारा देखने को मिला, जब बहराइच के सुदूरवर्ती क्षेत्र जरवल कस्बे के सलमान शादी का सेहरा बांधे हुए कार में सवार होकर इसी बाढ़ ग्रस्त इलाके के रतनपुर गांव में शादी रचाने पहुंचे। लेकिन रतनपुर गांव से करीब तीन किलोमीटर पहले से बाढ़ के लबालब भरे पानी ने उनकी कार में ब्रेक लगा दी। अब इस भीषण पानी मे दूल्हे सलमान की कार जाए तो जाए कैसे?

सो उन्होंने वहीं उतरना मुनासिब समझा। फिर उनकी ससुराल रतनपुर से ट्रैक्टर ट्राली भेजी गई, जिसमें सवार होकर दूल्हा सलमान व उनके साथ बाराती पानी में ही रवाना हुए। दूल्हा सलमान के मुताबिक पानी कुछ कम हुआ था, लेकिन पानी आज और अधिक बढ़ गया। लेकिन दिल वालों का रास्ता कोई नहीं रोक सकता। हम अपनी दुल्हनिया को लेने आए हैं और लेकर ही जाएंगे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App