×

Gyanvapi Masjid Survey: ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने का हुआ सर्वे, कल भी जारी रहेगी कार्यवाही

Gyanvapi Masjid Survey Update : पहले दिन का सर्वे समाप्त, जानें मस्जिद परिसर के अंदर क्या कुछ मिला

Gyanvapi Masjid Survey Live Update
X

Gyanvapi Masjid Survey Live Update (Image Credit : Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Gyanvapi Masjid Survey Live Update : Gyanvapi Mosque Survey : भगवान शिव की नगरी वाराणसी इन दिनों ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे (Gyanvapi Mosque Survey In Varanasi) को लेकर सुर्खियों में है। कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच शनिवार, 14 मई को पहले दिन सर्वे का काम संपन्न हुआ। सुबह आठ बजे से लेकर दोपहर के 12 बजे तक, यानी चार घंटे सर्वे कार्य चला। जानकारी के अनुसार, इस दौरान मस्जिद परिसर स्थित चार तहखानों और पश्चिमी दीवार का सर्वे किया गया।

वकील कमिश्नर अजय मिश्रा (Advocate Commissioner Ajay Mishra) के साथ वादी और प्रतिवादी पक्ष के 52 लोगों की टीम ने तहखानों के ताले खुलवाकर उसकी जांच की। टीम ने दीवारों की बनावट, खंभों की वीडियोग्राफी भी की। बता दें, कि इसके लिए विशेष लाइट और कैमरे की व्यवस्था की गई है। सर्वे का काम कल यानी रविवार 15 मई को फिर सुबह आठ बजे से आरंभ होगा। रविवार को ऊपर के कमरों का सर्वे होगा।

हिंदू पक्ष ने किया बड़ा दावा

सर्वे के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के अंदर मौजूद विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने बाहर निकलते ही बड़ा दावा कर दिया। उन्होंने कहा, कि 'वहां कल्पना से बहुत अधिक है।' सर्वे के दौरान क्या मिला, इसपर बिसेन ने कहा मेरी नहीं हम सबकी कल्पना से भी ज्यादा बहुत कुछ वहां है। आगे उन्होंने कहा, कि कल के लिए भी बहुत कुछ है। बिसेन के मुताबिक, कुछ तालों को खोला गया, कुछ को तोड़ना पड़ा। विश्व वैदिक सनातक संघ के प्रमुख ने आगे कहा, कि हम सभी बातें मीडिया में नहीं बता सकते। दोनों पक्षों की सहमति से सर्वे हुआ है।

पहले दिन के सर्वे में क्या मिला?

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सर्वे करने के लिए ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के अंदर पहुंची टीम को चार तहखाने मिले, जबकि शुरुआत में इसकी संख्या दो बताई जा रही थी। इसके अलावा टीम को सुरंगनुमा पांचवा तहखाना भी मिला है। जिसका कल सर्वे किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक, यहां मंदिर के शिखर की जगह मस्जिद के गुंबद रखे जाने के संकेत मिले हैं। वहीं तहखानों के भीतर त्रिशूल, स्वास्तिक, प्राचीन शिलाएं, खंडित मूर्तियां और दिए रखने की जगह मिली है। इसके अलावा दीवारों पर नाग और स्वान की कलाकृति भी मिली है। बता दें कि इससे पहले भी जब सर्वे हुआ था तो वीडियोग्राफी के लिए कोर्ट द्वारा नियुक्त शख्स ने मस्जिद के अंदर दीवारों पर बनी ऐसे ही कई कलाकृतियों को लेकर दावे किए थे।

सर्वे की जानकारी लीक नहीं करने का आदेश

अदालत के आदेश के बाद दूसरी बार शुरू हुए सर्वे कार्य को लेकर इस बार प्रशासन काफी सख्ती बरत रहा है। सर्वे के लिए मस्जिद परिसर के अंदर गई पूरी टीम के मोबाइल पहले ही बाहर जमा करा लिए गए थे। टीम को सख्त निर्देश है कि सर्वे से जुड़ी कोई भी जानकारी किसी भी सूरत में लीक न हो। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था भी काफी कड़े किए गए हैं। एक किलोमीटर के दायरे में करीब 1500 से ज्यादा पुलिस-PAC के जवान तैनात रहे थे। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा और पुलिस कमिश्नर ए.सतीश गणेश सर्वे पूरा होने तक वहां स्वयं मौजूद रहे। ज्ञानवापी परिसर के चारों तरफ 500 मीटर तक पब्लिक और मीडिया की एंट्री बंद करा दी गई थी। सभी दुकानों को बंद करवा दिया गया था। आसपास के मकानों के छत पर पुलिस के जवान तैनात किए गए थे।

इससे पहले, ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी मामले में सर्वे की कार्यवाही आज, 14 मई को पूरी हो गई। शनिवार को सर्वे के बाद मस्जिद परिसर से बाहर निकले वकीलों ने मीडिया को बताया कि, 'आज करीब चार घंटे तक कार्यवाही चली। वादी-प्रतिवादी और पुलिस-प्रशासन, सभी पक्ष सहयोग कर रहे हैं। शांतिपूर्ण तरीके से सर्वे कार्य चल रहा है। वहीं, वकीलों ने कहा, कि 'सर्वे की रिपोर्ट अत्यंत गोपनीय है। अदालत का आदेश है कि जो कोई भी कार्यवाही को लेकर बाहर कुछ लीक करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसलिए फ़िलहाल कोई जानकारी नहीं दी जाएगी।

दोनों पक्ष के वकीलों ने ये भी बताया कि, जहां-जहां सर्वे होना था, वहां-वहां किया गया। बता दें कि सर्वे की कार्यवाही रविवार 15 मई को भी जारी रहेगी। मीडिया ने जब वकीलों से पूछा कि सर्वे की कार्यवाही कब तक चलेगी, इस सवाल पर उनका कहना था कि इसे लेकर हम अभी कुछ नहीं कह सकते। इस संबंध में एडवोकेट कमिश्नर ही बता पाएंगे। बता दें, इस सर्वे को लेकर मस्जिद परिसर समेत पूरे क्षेत्र में सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं। किसी भी तरह का सांप्रदायिक माहौल ना बने इसके लिए प्रशासन की ओर से सारी तैयारियां कर ली गई हैं। शनिवार को सुबह मस्जिद के सर्वे के लिए सर्वे टीम मौके पर पहुंच गई इस सर्वे टीम के सभी सदस्यों की मोबाइल फोन को बाहर ही जमा करवा लिया गया।

आज चार घंटे चली कार्यवाही

ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे की कार्यवाही शनिवार को करीब चार घंटे तक चली। सुबह 8 बजे से शुरू हुआ सर्वे कार्य दोपहर 12 बजे तक चला। मस्जिद के तहखाने में चार कमरे हैं जिनमें से एक पर हिंदू पक्ष का कब्जा है। वहीं, तीन कमरे मुस्लिम पक्ष के पास हैं। इन तहखानों में बैटरी के माध्यम से रोशनी कर एडवोकेट कमिश्नर ने सर्वे की कार्यवाही को अंजाम दिया।

तीन कमरों का सर्वे हुआ पूरा

ज्ञानवापी मस्जिद मामले में सर्वे कर रही टीम ने मस्जिद परिषद के तहखाने में स्थित कुल चार कमरों में से तीन कमरों का वीडियोग्राफी सर्वे पूरा कर लिया है। इस सर्वे में हिंदू पक्ष के साथ मुस्लिम पक्ष के लोग भी मौके पर मौजूद हैं। फिलहाल चौथे कमरे का सर्वे किया जा रहा है।

दुकानें बंद मीडिया पर भी रोक

वाराणसी ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे को लेकर प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था काकड़ा व्यवस्था किया है। मस्जिद की तरफ आने वाली सड़क पर हर 100 मीटर के बाद बैरिकेडिंग करके करीब 500 मीटर तक सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। वहीं मस्जिद के 500 मीटर के दायरे में आने वाले सभी दुकानों को भी बंद कर दिया गया है। साथ ही काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर 4 के आसपास कई जगहों पर मीडिया को जाने पर भी रोक लगा दिया गया है। हालांकि इस दौरान भी शिव भक्तों के लिए काशी विश्वनाथ धाम के गेट को खोला गया है।

कल डीएम ने की थी बैठक

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे को लेकर कल जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने एक बड़ी बैठक की थी। इस बैठक में हिंदू और मुस्लिम दोनों ही पक्षों के लोगों को बुलाया गया था। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने इस बैठक में दोनों पक्षों के लोग से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। बता दें कोर्ट के आदेश पर आज सर्वे चल रहा है जिसको लेकर प्रशासन की ओर से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का इंतज़ार किया गया है ताकि किसी भी तरह की तनाव के हालात ना पैदा हों।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला

शुक्रवार को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर सर्वे मामले को लेकर अंजुमन ए इंतेजामिया कमेटी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई। इस याचिका में कमेटी की ओर से मांग की गई कि ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का सर्वे रोक दिया जाए। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने सर्वे पर तुरंत रोक लगाने से साफ इंकार कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना ने सर्वे पर रोक लगाने से इनकार करते हुए कहा कि मैंने याचिका देखी नहीं है।

कोर्ट ने दिया सर्वे का आदेश

वाराणसी ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे को लेकर अदालत ने कहा 17 मई तक कोर्ट कमिश्नर अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंप दें। राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन की ओर से 17 मई तक सर्वे पूरा कर रिपोर्ट सबमिट कर दिया जाए। कोर्ट ने कहा अगर इस सर्वे को लेकर किसी की ओर से कोई भी रोक टोक की गयी तो उसके खिलाफ तत्काल कार्यवाही की जाएगी। कोर्ट के आदेश के बाद आज वाराणसी में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे कोर्ट कमिश्नर की निगरानी में शुरू कर दिया गया है। सर्वे शुरू होने से पहले सर्वे टीम में मौजूद सभी सदस्यों के मोबाइल फोंस को जमा कर लिया गया साथ ही प्रशासन की ओर से यह अपील की गई है कि दोनों पक्ष शांति व्यवस्था बनाए रखें माना जा रहा यह सर्वे 12:00 बजे तक पूरी तरह संपन्न हो जाएगा जिसके बाद सोमवार को कोर्ट कमिश्नर कोर्ट में सर्वे से जुड़ी रिपोर्ट सबमिट कर देंगे।

Bishwa Maurya

Bishwa Maurya

Next Story