×

Hamirpur News: महिला सशक्तीकरण को मिला बढ़ावा, मेधावी छात्राओं को एक दिन का बनाया गया अधिकारी

Hamirpur News Today: उन्होंने डीएम की कुर्सी पर बैठकर कार्यालय आए हुए फरियादियों की समस्याओं को सुना

Ravindra Singh
Updated on: 28 Sep 2022 3:38 PM GMT
Hamirpur News To promote women empowerment encourage girl student education making one day officer
X

Hamirpur News To promote women empowerment encourage girl student education making one day officer

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Hamirpur News: महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा व बालिका शिक्षा प्रोत्साहन देने के लिए बुधवार को जिले के मेधावी छात्राओं को एक दिन का अधिकारी बनाकर उनका मनोबल बढ़ाया गया। इस दौरान कोई छात्रा डीएम बनीं तो किसी ने एसपी की कुर्सी संभालकर कार्यालय आए फरियादियों की शिकायतों को सुना और समस्या का निराकरण कराया।

महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा व बालिका शिक्षा प्रोत्साहन देने के लिए अर्पिता सेंगर को एक दिन डीएम बनाया गया। उन्होंने डीएम की कुर्सी पर बैठकर कार्यालय आए हुए फरियादियों की समस्याओं को सुना। इस दौरान उनके बगल में जिलाधिकारी डा.चंद्रभूषण त्रिपाठी भी उपस्थित रहे। इसी तरह से सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज मौदहा की छात्रा राधिका गुप्ता ने एक दिन का एसपी बनकर कानून व्यवस्था संभाली और कार्यालयों का निरीक्षण कर एसपी कार्यालय में बैठकर फरियादियों की समस्याएं सुनीं।

राजकीय बालिका इंटर कालेज की छात्रा अर्पिता सिंह को एक दिन का सदर एसडीएम बनाया गया। कार्यालय पहुंचते ही एसडीएम, तहसीलदार राधेश्याम सिंह व एसडीएम स्टेनो ननकूराम द्वारा उन्हें पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया। जिसके बाद अर्पिता सिंह ने आए हुए फरियादियों की शिकायतें सुनीं और कार्यालयों का निरीक्षण किया। वहीं रव्यांशी ओमर को मुख्य विकास अधिकारी व सृष्टिमाला को अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत बनाया गया। इन सभी छात्राओं को उनके स्कूलों से अधिकारियों की गाड़ी लेने पहुंची और एक अधिकारी की तरह उन्हें कार्यालय स्टाफ के द्वारा सम्मान दिया गया। इन सभी मेधावी छात्राओं को प्रमाण पत्र भी दिया गया।

जनपद हमीरपुर::महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए सराहनीय पहल 10वीं की छात्रा बनी 1 दिन के लिए पुलिस अधीक्षक

महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए एक दिन की पुलिस अधीक्षक बनी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज की छात्रा राधिका गुप्ता पुत्री नवीन कुमार गुप्ता निवासी तहसील रोड मौदहा इस दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आये फरियादियों की शिकायतो को सुना, पुलिस कार्यप्रणाली की जानकारी ली गई,सम्बन्धित अधिकारियों को प्रार्थना पत्रों पर जांच कर गुणवत्ता पूर्ण कार्यवाही करने के निर्देश दिए साथ ही पुलिस कार्यालय की विभिन्न शाखाओं का निरीक्षण एंव संबंधित शाखाओं के रजिस्टरों का अवलोकन किया गया व आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

मौदहा हमीरपुर- नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए नगर के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की कक्षा ग्यारह विज्ञान की बालिका सरिता को एक घंटे के लिए उप जिलाधिकारी बनाया गया इस दौरान उसने कार्यालय में आई शिकायतों का अवलोकन कर उनकी जांच पड़ताल को कह उनके निस्तारण को कहा। इसके अलावा उप जिलाधिकारी की कुर्सी में बैठने के दौरान सरिता बेहद खुश दिखी उसने बताया कि उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उसे शिक्षा के दौरान ही एक घंटे उप जिलाधिकारी की कुर्सी में बैठ उनसे संबंधित कार्य देखने का मौका मिलेगा। वह ग्रामीण क्षेत्र घटकना से प्रतिदिन राजकीय बालिका इंटर कॉलेज पढ़ने आती है। हाई स्कूल में उसने 86% अंक हासिल किए थे वह आगे चलकर चिकित्सक बन समाज की सेवा करना चाहती है।

आराध्या बनी एक दिन की बीडीओ सुनी समस्याएं

भरुआ सुमेरपुर। हाईस्कूल परीक्षा में जनपद में आठवां स्थान हासिल करने वाली छात्रा आराध्या सिंह को एक दिन का खंड विकास अधिकारी बनाकर सम्मानित किया गया। कस्बे में रहने वाले बृजेश कुमार एवं रेनू सिंह की पुत्री आराध्या सिंह ने हाईस्कूल की परीक्षा में 91.5फीसदी अंक प्राप्त कर जनपद में आठवां स्थान प्राप्त किया था। नवरात्रि पर्व पर मातृशक्ति को सम्मानित करने के उद्देश्य जिलाधिकारी डॉ चंद्रभूषण त्रिपाठी ने नई पहल करते हुए जिले की टॉपर छात्राओं को विभिन्न विभागों का प्रमुख अधिकारी बनाने का निर्देश दिया था। इसी क्रम में आराध्या सिंह को एक दिन का खंड विकास अधिकारी बनाया गया। छात्रा ने खंड विकास अधिकारी की कुर्सी को संभाल कर लोगों की समस्याएं सुनी और निस्तारण करने के निर्देश दिए। ब्लॉक कार्यालय का निरीक्षण करने आए चित्रकूट धाम मंडल के संयुक्त विकास आयुक्त रमेश चंद्र पांडेय ने छात्रा को गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया। इस मौके पर बीडीओ विपिन कुमार, एडीओ पंचायत मनफूल पाल, एपीओ मनरेगा विकास चंद, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी बृजेश कुमार शुक्ला, अनामिका पांडेय, मोहिनी तिवारी, स्वाति शर्मा, बालेश्वर द्विवेदी, रामबाबू गुप्ता, विनोद वर्मा,अमित कुमार, रामसेवक, प्रियंका सिंह सहित ग्राम प्रधान आदि मौजूद रहे।

गीतांजलि त्रिपाठी बनी 1 घंटे की एसडीएम

राठ। बुधवार को एक घंटे के लिए हाईस्कूल टॉपर छात्रा गीतांजलि त्रिपाठी को सांकेतिक एसडीएम बनाया गया। एसडीएम बनते ही छात्रा गीतांजलि त्रिपाठी ने मौदहा बांध से संबंधित शिकायत सुनी और उसका समाधान भी किया। छात्रा गीतांजलि त्रिपाठी ने बताया मां शारदा बालिका विद्यालय में कक्षा 11 की छात्रा है। उसके पिता डॉ.शिव विनायक त्रिपाठी सिकंदरा शहर में सरकारी डॉक्टर है। छात्रा गीतांजलि त्रिपाठी ने बताया एसडीएम की कुर्सी पर बैठना एक सपने के बराबर लग रहा है। वह डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करना चाहती है।

समीक्षा बनी एक दिन की खंड विकास अधिकारी।

कुरारा। राजकीय इंटर कॉलेज की छात्रा समीक्षा जिसने हाईस्कूल परीक्षा में 78 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे। वर्तमान में वह कक्षा 11 की छात्रा है। बुधवार को उसको एक दिन का खंड विकास अधिकारी बनाया गया। उसको खंड विकास अधिकारी दिव्या त्रिपाठी ने छात्रा को अपनी सीट पर बैठाया। खंड विकास अधिकारी की सीट पर बैठ अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए ब्लाक में आये फरियादियों की समस्या सुनी। छात्रा ने बताया कि खंड विकास अधिकारी की सीट पर बैठ कर न्याय करने की सुखद अनुभूति हुई। आगे पढ़कर सरकारी अधिकारी बनकर लोगो के कार्य करने की बात कही।

सरीला। मेधावी छात्राओं ने एक दिन का अफसर बनकर समस्याएं सुनी व विकास कार्यों की समीक्षा की।

शासन के निर्देश पर मेधावी छात्राओं का मनोबल बढ़ाने के लिए उन्हें एक दिन का अफसर बनाने के निर्देश दिए गए थे। बुधवार को हाई स्कूल की परीक्षा में अव्वल रही राजकीय इंटर कॉलेज की छात्रा ब्यूटी ने एक दिन का एसडीएम बनकर समस्याएं सुनी व कर्मचारियों के साथ मिलकर कामकाज की जानकारी ली। शल्लेश्वर इंटर कॉलेज की छात्रा शिवानी ने एक दिन के लिए खंड विकास अधिकारी की कुर्सी संभाली तथा विकास योजनाओं के बारे में जानकारी ली। अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी जितेंद्र कुमार ने उन्हें बताया कि विकासखंड की 45 ग्राम पंचायत में बुधवार को 2123 मनरेगा मजदूरों को काम दिया गया है। तथा अन्य योजनाओं की भी जानकारी ली। दोनों छात्राओं ने अफसरों की कुर्सी पर बैठ कर खुद को गौरवान्वित होने की बात कही है।

Anant kumar shukla

Anant kumar shukla

Next Story