×

Hapur News: नौकरी के नाम पर ठगी करने का वाला आरोपी गिरफ्तार, 58 पासपोर्ट बरामद

Hapur News: एसपी अभिषेक वर्मा नें बताया की साइबर थाना प्रभारी द्वारा पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था। साइबर टीम नें ज़ब इस मामले जाँच पड़ताल की तो आरोपी राशिद का नाम उजागर हुआ।

Avnish Pal
Report Avnish Pal
Published on: 10 April 2024 1:36 PM GMT
Hapur News
X

Hapur News (Pic:Newstrack) 

Hapur News: जनपद की साइबर सेल थाना पुलिस की टीम ने ठगी के एक ऐसे गिरोह का खुलासा करने में कामयाबी पाई है, जो अच्छे पैसे और जॉब की चाह में विदेश जाने की इच्छा रखने वाले भोले-भाले और मासूम लोगों से ठगी की वारदात को अंजाम देता था। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस नें इस मामले जनपद रामपुर के थाना अजीमनगर ग्राम हकीमगंज निवासी राशिद पुत्र बाबू शेख पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के छिजारसी टोल प्लाजा के पास से गिरफ्तार किया हैं। पुलिस नें आरोपी के कब्जे से पुलिस ने नकदी,पासपोर्ट, वीजा, मोहरे लेपटॉप, बारकोड स्कैनर, मोबाइल फोन फर्जी सिमकार्ड, मोबाइल फोन,बरामद किए हैं।

पुलिस नें बताया कि थाना गढ़मुक्तेश्वर निवासी ग्राम अठसैनी शाहरूख नें थाने में तहरीर देते हुए बताया था, कि मुझे व मेरे भाई को सउदी अरब में नौकरी के लिये जाना था। सउदी अरब में नौकरी लगवाने के बारे में मैंने काफी लोगों से जानकारी की तो पता चला कि मेरे गांव के रागिब के परिचित राशिद पुत्र बाबू शेख निवासी ग्राम हकीमगंज थाना अजीमनगर जनपद रामपुर के रहने वाला है और वर्तमान में सउदी अरब के रियाज शहर में नौकरी करता है। मैनें और मेरे मामा मशरूफ व मेरे भाई बाबर ने राशिद से व्हाटसएप कॉल कर सम्पर्क किया तो राशिद ने कहा कि मैं एक आदमी के 1,20,000 रूपये लूंगा और एक माह के अन्दर अन्दर कुवैत भिजवा दूंगा, अगर आपकी जान-पहचान में कोई और व्यक्ति भी सउदी या कुवैत में नौकरी लगवाना चाहता है। तो उसकी भी नौकरी लगवा दूंगा। फिर मैंने अपने परिचित व रिश्तेदारों से सम्पर्क किया और उन्हें राशिद से सम्पर्क करने के लिये कहा तो जुबैर, शोयन, बाबर, मरगून, कैफ फहीम, गुलशन, कामरान, फरीद, मुस्तकीम, अब्दुल वाहिद, फुरकान, दानिश आबिद, वसीम, मारूफ व जावेद ने राशिद से व्हाट्सएप नम्बर पर बात की सभी लोगों को विश्वास में लेकर राशिद ने सभी को कुवैत व सउदी अरब में नौकरी दिलाने का वादा किया फिर राशिद ने वीजा व टिकट एवं कम्पनी ड्राफ्ट हेतु अलग-अलग तारीखों में पैसे लिये गये, उपरोक्त सभी लोगों ने मेरे खाते में अपने- अपने पैसे ट्रांसफर किये जिन पैसों को मैंने राशिद द्वारा अपने साथी साबिर के दिये गये क्यूआर कोड पर 27 दिसंबर 2023 से लेकर 10 जनवरी 2024 को ट्रांजेक्शन आईडी कै माध्यम से 15,40,000 रूपये ऑनलाइन ट्रांसफर किए थे। रूपये पहुंचने पर आरोपी नें फोन उठाने बंद कर दिए। जिसके बाद उन्हें अपने साथ ठगी का अहसास हुआ है। जिसको लेकर पीड़ित नें साइबर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

क्या बोले पुलिस के जिम्मेदार

एसपी अभिषेक वर्मा नें बताया की साइबर थाना प्रभारी द्वारा पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था। साइबर टीम नें ज़ब इस मामले जाँच पड़ताल की तो आरोपी राशिद का नाम उजागर हुआ। जिसको आज गिरफ्तार कर मामले में ख़ुलासा किया गया है। लग्जरी लाइफ जीने का शौकीन है शातिर आरोपी। पुलिस नें आरोपी से 58 पासपोर्ट,122 वीजा,30 रबर मोहरे, एक लेपटॉप, बारकॉड स्केनर, तीन मोबाइल, एक हजार नकदी व लग्जरी कार बरामद की है।

Durgesh Sharma

Durgesh Sharma

Next Story