×

Hardoi News: गौ-संरक्षण केंद्र का शुभारंभ, एक पशुपालक को 4 गौवंश तक मिलेगा 30 रुपये प्रति पशु सहयोग

Hardoi: बालामऊ गांव में वृहद गौ संरक्षण केंद्र स्वीकृत हुआ। जिसका उद्घाटन गुरुवार को क्षेत्रीय विधायक रामपाल वर्मा व विधान परिषद सदस्य अशोक अग्रवाल ने फीता काटकर किया।

Pulkit Sharma
Published on: 9 Dec 2022 1:09 PM GMT
Hardoi News
X

गौ-संरक्षण केंद्र का शुभारंभ

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Hardoi News: हरदोई में सरकार छुट्टा गौवंशों के संरक्षण व संवर्धन के लिए सतत प्रयासरत है। जिसके चलते क्षेत्रीय विधायक रामपाल वर्मा के अथक प्रयास से बालामऊ गांव में वृहद गौ संरक्षण केंद्र स्वीकृत हुआ। जिसका उद्घाटन गुरुवार को क्षेत्रीय विधायक रामपाल वर्मा व विधान परिषद सदस्य अशोक अग्रवाल ने फीता काटकर किया।

विधान परिषद सदस्य ने गौवंशों की उपयोगिता पर प्रकाश डाला

इस दौरान विधान परिषद सदस्य अशोक अग्रवाल ने किसानों को संबोधित करते हुए गौवंशों की उपयोगिता पर प्रकाश डाला। भारतीय संस्कृत में गौवंश हमेशा पूजनीय रहे हैं। गौवंशों के संरक्षण के कारण कई बीमारियों से निजात मिलती है। गोबर का उपयोग कर हम जैविक खेती करके रसायन के अंधाधुंध प्रयोग पर अंकुश लगा सकते हैं। रसायन के अंधाधुंध प्रयोग से जाने अनजाने में कई बीमारियों की गिरफ्त में लोग आ रहे हैं।

सरकार के प्रयास से किया जा रहा वृहद गौ-संरक्षण केंद्र निर्माण कर शुभारंभ: MLA

क्षेत्रीय विधायक रामपाल वर्मा ने कहा सरकार के प्रयास से आपकी ग्राम सभा में एक करोड़ तीस लाख रुपये के रुपये बजट की स्वीकृत से वृहद गौ-संरक्षण केंद्र निर्माण कर शुभारंभ किया जा रहा है। जिससे क्षेत्र के किसानों को गौवंशों की ज्वलंत समस्या से राहत मिलेगी। इस वृहद गौ संरक्षण केंद्र में बुनियादी सुविधाएं विद्युतीकरण, टीन शेड, पीने योग्य पानी के लिए व पशुओं को विचरण के लिए प्राकृतिक तालाब, अच्छी चन्नी आदि सुविधाएं मुहैया कराई गई। गौवंश अच्छे माहौल में रहे, काफी रमणीक स्थल है। इस गौशाला को आप सभी की भागीदारी से आदर्श गौशाला बनाना है। जिससे जिले में एक बेहतर मॉडल प्रस्तुत कर सकें। हरा चारा के लिए ग्रामसभा इसके प्रांगण में नैपियर घास का उत्पादन कराए, जिससे गौवंश को चारा मिल सके।

किसानों ने विधायक के समक्ष की शिकायत

किसानों ने विधायक के समक्ष शिकायत की कि क्षेत्र पंचायत द्वारा बैरीकेडिंग का कार्य अच्छा नहीं किया गया। जिससे पशु आसानी से निकल जाते हैं। जिसपर विधायक ने खंड विकास अधिकारी को बैरीकेडिंग को सही कराने का निर्देश दिया। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने किसानों से अपील की अपने पालतू पशुओं को छुट्टा न छोड़े, ऐसा करना अपराध है, ऐसे किसानों को चिन्हित करके कानूनी कार्यवाही का प्रावधान है। पशुपालन सहभागिता का लाभ उठाते हुए पशुओं का पालन करें। जिसमें सरकार एक पशुपालक को चार गौवंशों तक प्रतिदिन 30 रुपये प्रति पशु आर्थिक सहयोग का प्रावधान है। इस गौशाला का निर्माण लोक निर्माण विभाग बिलग्राम खंड कार्यदायी संस्था द्वारा कराया गया।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story