×

Hardoi News: जीएसटी छापेमारी से आक्रोशित व्यापारियों ने किया प्रदर्शन, भेजा सीएम को ज्ञापन

Hardoi News: एक चिन्हित व्यापारी की दुकान पर पहुंच कर वस्तु एवं सेवा कर टीम को मजबूरन बैरंग लौटना पड़ा। जिसके बाद व्यापारियों ने राहत की सांस ली।

Pulkit Sharma
Updated on: 9 Dec 2022 8:46 AM GMT
Hardoi News
X

व्यापारियों का विरोध (फोटो: सोशल मीडिया )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Hardoi News: उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन किया है। जिसमें जीएसटी के छापे रोके जाने को लेकर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में प्रदेश व्यापी सर्वे छापे को अविलंब रोके जाने की मांग की है। व्यापारी नेता विमलेश कुमार दीक्षित ने कहा की सेल टैक्स की टीम पुलिस बल के साथ व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर छापे मार रही है। जिससे व्यापारियों में भय व्याप्त है। अगर छापे रोके नहीं गए तो प्रदेश नेतृत्व के निर्णय पर आंदोलन करेंगे।

जीएसटी टीम की छापेमारी से व्यापारियों में दहशत और डर का माहौल व्याप्त है। जिससे व्यापारी भनक लगने पर अपने प्रतिष्ठानों को बंद कर वहां से फरार हो जाते हैं। मल्लावां, पिहानी के बाद कल शहर में छापेमारी हुई है। जिससे व्यापारियों में आक्रोश व्याप्त है। व्यापारियों ने प्रदेश व्यापी सर्वे छापे को अविलंब रोके जाने की मांग की है। जिसके लिए व्यापारियों ने कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा है। व्यापारी नेता विमलेश कुमार दीक्षित ने आरोप लगाया है कि जीएसटी सर्वे छापे के कारण व्यापारी वर्ग दहशत, और भय में है। इस सर्वे से इंस्पेक्टर राज व भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा और व्यापारी समाज का उत्पीड़न शुरू हो जाएगा। जिससे ईमानदार एवं शर्मदार व्यापारी परेशान होगा। उत्तर प्रदेश व्यापार संगठन की मांग पर पिछले कई वर्षों से यह सर्वे बंद हो गया था। लेकिन विशेष अनुसंधान शाखा द्वारा शिकायत के आधार पर सर्वे का कानून जीएसटी में है। लेकिन वर्तमान में सभी प्रदेश के बाजारों में चल रहे जनरल सर्वे से व्यापारियों में दहशत है। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में उन्होंने कहा कि आज हरदोई बाजार में एसआईबी की टीम ने सुबह से ही छापे डालने शुरू कर दिए हैं। व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने सूचना पर एसआईबी टीम से वार्ता की तो यह मालूम हुआ कि कुछ दुकानदार जिनकी शिकायत है का ही सर्वे किया जा रहा है। लेकिन बगैर पूर्व सूचना के यह कार्य करने पर बाजार में डर का माहौल व्याप्त हो गया है। क्योंकि उनके साथ अतिरिक्त पुलिस बल को देखकर व्यापारी के मन में दहशत व्याप्त है। जिसमें व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष विमलेश कुमार दीक्षित का कहना है कि उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन कभी भी गलत काम का समर्थन नहीं करता है, लेकिन दो सूत्रीय मांगों पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने मांग की सहालग होने से भीड़भाड़ वाले बाजार में इतना पुलिस बल लेकर ना जाए केवल चिन्हित दुकानदारों का ही सर्वे करें। सर्वे से पूर्व अधिकारियों द्वारा सूचना दी जाए ताकि आम दुकानदारों को इन छापों से कोई नुकसान ना हो। अगर यह छापे नहीं रुकते हैं तो व्यापार मंडल प्रदेश नेतृत्व के निर्णय के आधार पर आंदोलन करने को बाध्य होगा।हालांकि विमलेश कुमार दीक्षित ने बताया जीएसटी टीम के द्वारा व्यापारियों को प्रताड़ित करने का काम किया जा रहा है। जिससे व्यापारियों में और आक्रोश व्याप्त है। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने जल्द समाधान ना होने की सूरत में प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यालय से जो नाम दिए गए हैं, केवल उन्हीं व्यापारियों की दुकानों का सर्वे किया जाएगा। बेनीगंज में शाहनवाज अंसारी कबाड़ी की दुकान पर स्थानीय पुलिस बल सहित टीम पहुंची। जांच करने के पूर्व ही कबाड़ी की दुकान बंद हो गई थी। जीएसटी सचल दल के अथक प्रयासों के बावजूद ना तो व्यापारी मिल सका और ना ही दुकान की कोई जांच हो सकी। वहीं पर टीम से भयभीत ठेले पर पट्टी, बतासा की दुकान लगाये कल्लू भी ठेले को छोड़ कर भाग निकला।

टीम को बैरंग लौटना पड़ा

व्यापार मंडल अध्यक्ष लव कुमार मिश्रा के समझाने-बुझाने पर उक्त टीम को बैरंग लौटना पड़ा।टीम वापसी के घंटों बाद व्यापारियों ने राहत की सांस लेते हुए पुनः दुकानें खोलीं। लव कुमार मिश्रा ने कहा कि व्यापार जिला अध्यक्ष हरदोई विमलेश दीक्षित से इस विषय में वार्ता हुई है। जो निर्णय आएगा वह व्यापारियों को अवगत करा दिया जाएगा। इस मौके पर बेनीगंज नगर के तमाम व्यापारी गण मौजूद रहे।

Monika

Monika

Next Story