Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

हाथरस केस: उमा भारती ने CM योगी को दी सीख, कह दी इतनी बड़ी बात

उमाभारती ने कहा कि मेरी जानकारी में ऐसा कोई नियम नहीं है कि एसआइटी जांच में परिवार किसी से मिल भी ना पाये। इससे तो एसाईटी की जांच ही संदेह के दायरे में आ जायेगी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 2 Oct 2020 2:37 PM GMT

हाथरस केस: उमा भारती ने CM योगी को दी सीख, कह दी इतनी बड़ी बात
X
हाथरस कांड पर उमाभारती ने सीएम योगी आदित्यनाथ को सीख दी है। उन्होंने कहा कि इस घटना पर पुलिस की संदेहपूर्ण कार्यवाही से आपकी की छवि पर आंच आयी है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: हाथरस कांड पर अब भाजपा के नेता ही योगी सरकार को घेरने लगे हैं। पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमाभारती ने आज ट्वीट कर कहा कि इस घटना से पुलिस की छवि पर असर पड़ा है। उमा भारती ने हाथरस की घटना पर सीएम योगी से कहा है कि इस घटना पर पुलिस की संदेहपूर्ण कार्यवाही से आपकी की छवि पर आंच आयी है।

गौरतलब है कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमाभारती इन दिनों कोरोना पाजिटव होने के कारण ऋषिकेष में अपना इलाज करा रही हैं। और आज उनका सातवां दिन है। आज शाम उन्होंने लगातार कई ट्वीट किए और कहा कि वह एक दलित परिवार की बिटिया थी। बड़ी जल्दबाजी में पुलिस ने उसकी अंत्येष्टि की।

''...तो एसाईटी की जांच ही संदेह के दायरे में आ जायेगी''

उमाभारती ने कहा कि मेरी जानकारी में ऐसा कोई नियम नहीं है कि एसआइटी जांच में परिवार किसी से मिल भी ना पाये। इससे तो एसाईटी की जांच ही संदेह के दायरे में आ जायेगी। उन्होंने कहा कि मैं आपसे वरिष्ठ एवं आपकी बड़ी बहन हूं । मेरा आग्रह है कि आप मेरे सुझाव को अमान्य मत करियेगा। उन्होंने कहा कि मैं कोरोना वार्ड में बहुत बैचेन हूं। अगर मैं कोरोना पॉजिटिव ना होती तो मैं भी उस गाव में उस परिवार के साथ बैठी होती।



उमा ने कहा कि ऋषिकेश से छुट्टी होने पर मैं हाथरस में उस पीड़ित परिवार से जरूर मिलूंगी। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा आप एक बहुत ही साफ सुधरी छवि के शासक हैं। मेरा आपसे अनुरोध है कि आप मीडियाकर्मियों को एवं अन्य राजनीतिक दलों के लोगों को पीड़ित परिवार से मिलने दीजिये।

''पुलिस की संदेहपूर्ण कार्यवाही से आपकी छवि पर आंच आयी''

उन्होंने कहा कि हमने अभी राम मंदिर का शिलान्यास किया है तथा आगे देश में रामराज्य लाने का दावा किया है किन्तु इस घटना पर पुलिस की संदेहपूर्ण कार्यवाही से आपकी, यूपी सरकार की तथा बीजेपी की छवि पर आंच आयी है।



उन्होंने कहा कि वह एक दलित परिवार की बिटिया थी। बड़ी जल्दबाजी में पुलिस ने उसकी अंत्येष्टि की और अब परिवार एवं गाव की पुलिस के द्वारा घेराबंदी कर दी गयी है। उमा ने कहा कि मैंने हाथरस की घटना के बारे में देखा। पहले तो मुझे लगा की मै ना बोलूं, क्योंकि आप इस संबंध में ठीक ही कार्यवाही कर रहे होंगे। किन्तु जिस प्रकार से पुलिस ने गाव की एवं पीड़ित परिवार की घेराबंदी की है उसके कितने भी तर्क हो, लेकिन इससे विभिन्न आशंकाये जन्मती है।

उमा ने कहा कि आज मेरा 7 वां दिन है और इसलिये मैं अयोध्या मामले पर विशेष सीबीआइ कोर्ट में पेश भी नहीं हो पायी। यद्यपि मैं किसी से मिल नहीं सकती, फोन नहीं कर सकती, लेकिन टीवी है जिससे की समाचार मिलते हैं। जी आपको जानकारी होगी ही कि मैं कोरोना पॉजिटिव पाने से ऋषिकेश में एम्स के कोरोना वार्ड में भरती हूं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story