Top

अब CM अखिलेश खाली करवाएंगे अपने पापा और चाचाओं के सरकारी बंगले!

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 1 Aug 2016 9:28 AM GMT

अब CM अखिलेश खाली करवाएंगे अपने पापा और चाचाओं के सरकारी बंगले!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार अब सीएम अखिलेश यादव अपने पिता और राज्य के पूर्व सीएम रहे मुलायम सिंह यादव और चाचाओं के सरकारी बंगले खाली करवाएंगे। सीएम अखिलेश यादव राजनाथ सिंह और कल्याण सिंह को भी चाचा कहते हैं। देश की शीर्ष अदालत ने सोमवार को यूपी सरकार के पूर्व सीएम को सरकारी बंगला देने के नोटिफिकेशन को खारिज करते हुए ये आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि किसी को भी जीवन भर के लिए सरकारी बंगला नहीं दिया जा सकता। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों से सरकारी बंगला खाली कराने की याचिका एस एन शुक्ला ने अपनी संस्था 'लोक प्रहरी' की ओर से दाखिल की थी। उनका कहना है कि पूर्व सीएम शासकीय संपत्ति का इस्तेमाल निजी काम के लिए कर रहे थे जो गलत है ।

ये अलग बात है कि बीजेपी के सीएम रहे राम प्रकाश गुप्ता ने पूर्व होने के बाद सरकारी बंगला लेने से इंकार कर दिया। पहले चली आ रही व्यवस्था के अनुसार सीएम आवास से कुछ दूर अखिलेश यादव का बंगला बनाया जा रहा है। सीएम अखिलेेेश यादव के पिता मुलायम सिंह के बंगले से सटा हुआ कृषि उत्पादन आयुक्त का बंगला था। इस बंगले के पीछे लोक निर्माण विभाग के सर्वेंट क्वाटर थे। अब इस बंगले और सर्वेंट क्वाटर में अखिलेश यादव रहेंगे।

एनडी तिवारी को मालएवेन्यू में एक बंगला भव्यता के साथ मिला। मध्य प्रदेश के राज्यपाल जब यूपी के मुख्यमंत्री राम नरेश यादव थे तो उन्हें भी एक बंगला माल एवेन्यू में मिला। कल्याण सिंह, मुलायम सिंह यादव, मायावती के बंगलों में अब तक मायावती का बंगला सबसे भव्य था।

अखिलेश के लिए आलीशान आशियाना

विक्रमादित्य मार्ग पर सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के बगल वाला मकान अब यूपी के सीएम अखिलेश यादव का होगा। ये बंगला इतना बड़ा होगा कि एक दरवाजा इसका विक्रमादित्य मार्ग पर खुलेगा तो दूसरा कालिदास मार्ग पर।

यह आवास इन दिनों गुपचुप तरीके से तैयार किया जा रहा है। इस बंगले में किसी बाहरी आदमी की इंट्री पर रोक है। इस मकान के नवीनीकरण की जिम्मेदारी मुंबई की एक बड़ी कंस्ट्रक्शन कंपनी को दी गई है। बंगले की रूपरेखा और सजावट दुबई के शेखों के बंगलों की तर्ज पर की जा रही है।

मुलायम सिंह यादव को पूर्व मुख्यमंत्री की हैसियत से विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगलों में पांच नंबर मिला था। उस मकान से ठीक सटा हुआ आवास संख्या 4 विक्रमादित्य मार्ग अब उनके बेटे यूपी के सीएम अखिलेश यादव के लिए सजाया जा रहा है। इस मकान को उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री की हैसियत से अभी से एलॉट कर दिया गया है। उनके ठीक बगल में राज्य सम्पत्ति विभाग का गेस्ट हाउस है और उसके बाद नगर विकास मंत्री आजम खान का सरकारी बंगला है।

तकरीबन चार एकड़ जमीन पर इस बंगले को सजाया जा रहा है। इस बंगले को मुंबई की जो कांस्ट्रक्शन कंपनी सजा रही है उसका कहना है कि ये बंगला अरेबियन एंटीक अंदाज से सजाया जा रहा है । इसमें लगने वाले पत्थरों और लकड़ी की डिजाइन अरेबियन और इंग्लिश स्टाइल की होगी।

क्या क्या होगा इस बंगले में

नीचे का हिस्सा बैठकों, आगंतुकों और स्टाफ के लिए होगा। बंगले के पूर्वी क्षेत्र के ऊपर के तल पर यानीकि पहली मंजिल में सीएम की फैमिली रहेगी। पीछे और बंगले लेफ्ट साइड के अलावा कई ब्लाक बनाए जा रहे हैं। हर ब्लाक के अगर कमरों को जोड़ लिया जाए तो इस बंगले में करीब 25 कमरे होंगे।

अखिलेश यादव सरकारी आवास के निर्माण को खुद अपनी निगरानी में करवा रहे हैं। वे इस बंगले के ऊपरी हिस्से को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित कराना चाहते हैं। इसके लिए बंगले के खर्चों में अभी और तब्दीली आने की संभावना है।

राज्य सम्पत्ति विभाग के अधिकारी भी नियमित इस आवास में लग रही सामग्री की गुणवत्ता की जांच करते हैं। मौके पर मौजूद एक अधिकारी ने कहा कि यहां क्वॉलिटी से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। खर्च के बारे में न तो लोक निर्माण विभाग के अधिकारी कुछ बोल रहे हैं और न ही राज्य सम्पत्ति विभाग के अधिकारी कुछ कहने को तैयार हैं। सब चुप हैं और बंगला बनना जारी है।

क्या रह पाएंगे अखिलेश यादव बन रहे भव्य बंगले में ?

सुप्रीम कोर्ट के सोमवार के आदेश के अनुसार अब ये सवाल उठ रहा हे कि क्या अखिलेश यादव पूर्व होने के बाद बन रहे भव्य बंगले में रह पाएंगे। हालांकि सुप्रीम कोर्ट के राज्य के पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी, कल्याण सिंह, मुलायम सिंह यादव, मायावती, राम नरेश यादव और राजनाथ सिंह के बंगले को ही दो महीने में खाली कराने का आदेश दिया है।

Newstrack

Newstrack

Next Story