Top

INTOLERANCE: देशद्रोह केस में आमिर के खिलाफ बहस पूरी, 10 को फैसला

Admin

AdminBy Admin

Published on 25 Feb 2016 1:26 PM GMT

INTOLERANCE: देशद्रोह केस में आमिर के खिलाफ बहस पूरी, 10 को फैसला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: इन्टॉलरेंस को लेकर दिए गए बयान के बाद आमिर खान पर चल रहे देशद्रोह केस की बहस कानपुर कोर्ट में पूरी हो गई है। एसीएमएम-थर्ड कोर्ट 10 मार्च को फैसला सुनाएगा।

क्यों हुआ देशद्रोह का केस?

-आमिर खान ने देश में बढ़ती इन्टॉलरेंस को लेकर बयान दिया था।

-उन्होंने कहा था कि पहली बार उनकी पत्नी किरण राव को अपने बच्चों को लेकर डर लग रहा है।

-किरण ने उन्हें देश छोड़कर जाने की बात कही।

-इसके बाद उनके खिलाफ हिंदूवादी संगठनों ने मोर्चा खोल दिया था।

-अगले ही दिन वकील मनोज दीक्षित ने एसीएमएम-3 की कोर्ट में आमिर के खिलाफ याचिका दर्ज करवाई थी।

-दीक्षित ने मुताबिक आमिर खान ने भारत विरोधी बयान देकर आईपीसी की धारा 124 (a), 153 (b), 153 (c), 505 के तहत अपराध किया।

क्या हुआ कोर्ट में

-कोर्ट में पिछली तारीख को वादी एडवोकेट मनोज कुमार दीक्षित ने सभी सबूत जमा कर दिए।

-गुरुवार, 25 फरवरी को कोर्ट में डेट थी।

-दोपहर में बहस के बाद जस्टिस अभय प्रकाश नारायण ने आदेश के लिए 10 मार्च की डेट तय कर दी।

पहले भी कर चुके केस

-आमिर के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा सबसे पहले कोर्ट में मनोज कुमार दीक्षित ने ही दायर किया था।

-इससे पहले वो फिल्म पीके के प्रमोशन के लिये प्रदर्शित आमिर के नग्न पोस्टर को लेकर भी फिल्म के डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और खुद आमिर पर मुकदमा कर चुके हैं।

Admin

Admin

Next Story