×

यहां के लोगों के लिए एम्बूलेंस हैं सपना, आज भी ठेले पर अस्पताल जाते है मरीज

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की स्वास्थ सेवा सरकारी एम्बूलेंस से अब ठेले पर पहुंच गयी है। दरअसल सरकार स्वास्थ सेवाओ को चुस्त दुरुस्त बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। गरीबो को मुफ्त में स्वास्थ सेवाओ को मुहैय्या कराने के लिए साथ उनको अस्पताल पहूँचाने के लिए एम्बूलेन्स सेवाओ को शुरु किया।

Roshni Khan
Updated on: 3 July 2019 11:20 AM GMT
यहां के लोगों के लिए एम्बूलेंस हैं सपना, आज भी ठेले पर अस्पताल जाते है मरीज
X
यहां के लोगों के लिए एम्बूलेंस हैं सपना, आज भी ठेले पर अस्पताल जाते है मरीज
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मऊ: उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की स्वास्थ सेवा सरकारी एम्बूलेंस से अब ठेले पर पहुंच गयी है। दरअसल सरकार स्वास्थ सेवाओ को चुस्त दुरुस्त बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। गरीबो को मुफ्त में स्वास्थ सेवाओ को मुहैय्या कराने के लिए साथ उनको अस्पताल पहूँचाने के लिए एम्बूलेन्स सेवाओ को शुरु किया।

लेकिन प्रदेश के मऊ जिले में एक पीडित महिला अपने पति के पैर टूट जाने पर लगातार सरकारी एम्बूलेंस को बुलाने के लिए फोन करती रही, लेकिन जब एम्बूलेंस नही पहुंचा और पति की हालत गम्भीर होती दिखाई पडी पीडित महिला शोहरा खातून अपने पति को गाव के ही रहने वाले खुर्शीद को बुलाकर उसके ठेले पर लिटा कर जिला चिकित्सलाय इलाज के लिए पहुंची जहां उसके पति का इलाज शुरु हो गया।

ये भी देंखे:कैबिनेट का फैसला, धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 85 रुपए बढ़ाया गया

घटना चाँद पुरा मुहल्ले की है

जिले के दक्षिणटोला थाना क्षेत्र के चाँद पुरा मुहल्ले की रहने वाली शोहरा खातून अपने पति के पैरे टूटने पर सरकारी एम्बूलेंस को बुलाने के लिए फोन किया लेकिन काफी देर बीत जाने के बाद जब सरकारी एम्बूलेन्स नही पहुंचा और पति की हालत गम्भीर होने लगी तो शोहरा खातून अपने मुहल्ले के रहने वाले खुर्शीद को ठेला लेकर बुलाया कि उसके पति की हालत गम्भीर जिला चिकित्सालय इलाज के लिए ले जाने है।

खुर्शीद आनन फानन में ठेला लेकर शोहरा खातून के घर पहुंचा और उसके पति को ठेले पर सुला कर जिलाचिकित्सालय के लिए निकल पड़ा। हालाकि शोहरा खातून के घर से सरकारी जिलाचिकित्सालय पाँच किमी दूर था। कडी धूम होने की वजह से पति की हालत और बिगडने लगी तो उसने ठेले पर बैठ करपति को छाया देने के लिए छाता लगा दिया। जिससे कडी धूम मे कुछ राहत मिल सके , और फिर जिलाचिकित्सालय पहुंची। जिला चिकित्सालय पहूँचने पर उसके पति का इलाज शुरु हो गया।

शोहरा खातून ने कहा कि उसके पति को कई तरह की बिमारी पैर टटू गया है। सूगर है बीपी की बिमारी है। पैर टूटने पर उसने सरकारी एण्बेलेन्स के लिए फोन किया सरकारी एम्बूलेन्स नही पहुंची तो वह अपने को ठेले से लेकर जिलाचिकित्सालय मे इलाज कराने के लिए पहुंची है।

ये भी देंखे:मोतीलाल वोरा हो सकते हैं कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष

मुहल्ले के रहने वाले खुर्शीद ने बताया कि उसके मुहल्ले के रहने वाले एक लोग का पैर टूट गया है सरकारी एम्बूलेन्स के नही पहूँचने पर वह ठेले से लेकर इलाज के लिए जिलाचिकित्सालय आया हुआ है।

जिलाचिकित्सालय के सीएमएस वृज कुमार ने बताया पूरा मामला

जिलाचिकित्सालय के सीएमएस वृज कुमार ने बताया कि सरकारी एम्बेलेन्स सेवा 108 लखनऊ से चलती है। इसका यहां से कोई लेना देना नही है। हालाकि लोगो की सुविधा के अनुसार अभी जैसा कि स्वास्थय मत्री सिदार्थनाथ सिहं का जिला चिकित्सालय का दौरा था और उनके द्वारा 108 की छ एम्बेलेन्स को देने का काम किया था। हमारे जिले में एम्बूलेन्स की कोई कमी नही है किसी कारण वश ऐसा हो सकता है जिसकी जाँच की जायेगा।

ये भी देंखे:राहुल गांधी के इस्तीफे पर बोलीं स्मृति ईरानी, जय श्रीराम

सरकार स्वास्थ सेवा के बेहतरी के लिए लगातार प्रयास कर रही है एक सप्ताह पहले यू पी के स्वास्थ मंन्त्री सिदार्थ नाथ सिह का मऊ दौरा कर स्वास्थ सेवाओ का जायाजा लिए जो कमीयाँ थी उनको दूर करने के निर्देश दिए थे। इसकी साथ जिले में छ नई एम्बूलेन्स गाडीयो को देने का काम किया ताकि जिले की गरीब जनता को समय से स्वास्थ सेवा मुहैय्या हो सके।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story