×

अरे राम ये क्या हुआ : एक मां ने गैरों को बचाया और अपनों को ही गंवा दिया

अरे राम ये क्या हुआ : एक मां ने गैरों को बचाया और अपनों को ही गंवा दिया

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 3 Oct 2017 1:40 PM GMT

अरे राम ये क्या हुआ : एक मां ने गैरों को बचाया और अपनों को ही गंवा दिया
X
अरे राम ये क्या हुआ : एक मां ने गैरों को बचाया और अपनों को ही गंवा दिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर: जीवन के बदलते रंग ऐसे होतें है कि कभी तो उनसे रौनक आ जाती है, और कभी मायूसी में बदल जाती है। कानपुर की एक महिला के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ। महिला बेचारी का जब तक परोपकार का पसीना सूखता उसके पहले ही महिला को बदनसीबी की आगोश में जाना पड़ा।

इस मां ने अपनी जान को खतरे में डाल कर एक मासूम बच्चे की जान बचाई थी। इस घटना के एक घंटे बाद ही जब इस महिला का बच्चा खेलते-खेलते उसी नजर में जा गिरा तो यह अपने बच्चे को नही बचा सकी, उसे इसी बात का मलाल है। बच्चे की जब तलाश की गई तो वह आधा किलोमीटर दूर उसका शव पानी में तैरता हुआ मिला। बेटे का शव तैरता हुआ देख यह मां बेहोश हो गई। पूरे क्षेत्र में हडकंप मच गया वही मां का रो-रो बुरा हाल है ।

यह भी पढ़ें…आंकड़े यहां है, अखिलेश सरकार से ज्यादा योगी राज में है पुलिस एक्टिव

बर्रा थाना क्षेत्र के भीम नगर में रहने वाले शिवा पासवान राज मिस्त्री का का काम करते है। परिवार में पत्नी सुनीता बड़ी बेटी शिवानी (07) मंझला बेटा शिवम् (05) छोटे बेटे शौर्य (04) के साथ रहते है। मंगलवार को शौर्य घर के बाहर खेल रहा था और सुनीता घरेलू काम कर रही थी। घर के बाहर से बहने वाली नहर के किनारे शौर्य खेलते वक्त नहर में जा गिरा। तभी क्षेत्र के एक लड़के ने शौर्य को गिरते हुए देख लिया उसने शोर मचाया । सभी शौर्य की तलाश में जुट गए लेकिन उसका कही कुछ पता नही चला। आधा किलोमीटर की दूरी पर शौर्य का शव पानी में तैरता हुआ मिला ।

यह भी पढ़ें…भगोड़ा विजय माल्या लंदन में अरेस्ट, फिर भी इंडिया के लिए खुशखबरी नहीं

क्षेत्र में रहने वाली सुमन ने बताया कि मंगलवार को इलाके में रहने वाला 5 साल का आयुष खेलते वक्त नहर में डूब में गया था।आयुष जब डूबा तो सुनीता की नजर उस पर पड़ गई और कूद कर बच्चे की जान बचा ली थी । उसके इस काम की सभी ने जमकर तारीफ की थी वही सुनीता को भी इस बात की ख़ुशी थी कि एक मां की गोद सूनी होने से बचा लिया।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story