Top

अलीगढ़ में कैराना जैसे हालात, पलायन की तैयारी में 10 हिंदू परिवार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 July 2016 8:04 PM GMT

अलीगढ़ में कैराना जैसे हालात, पलायन की तैयारी में 10 हिंदू परिवार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अलीगढ़ः पश्चिमी यूपी के कैराना और कांधला जैसे हालात अलीगढ़ के बाबरी मंडी इलाके में भी देखने को मिल रहे हैं। शुक्रवार को यहां रहने वाले 10 परिवारों ने मकान और दुकान बेचने की मंजूरी से जुड़ा एफिडेविट प्रभारी डीएम अवधेश तिवारी को दिया। इन लोगों के साथ मेयर शकुंतला भारती भी थीं। सभी लोगों का आरोप है कि माहौल बेहद खराब है और गुंडई कर रहे खास समुदाय के लोगों पर प्रशासन कार्रवाई करने में नरमी बरत रहा है।

लोगों का क्या है आरोप?

-बाबरी मंडी में रहने वाले हिंदू परिवार मेयर के साथ प्रभारी डीएम से मिले।

-इनमें कपिल गुप्ता, अंकुर वार्ष्णेय, मुकेश अग्रवाल और योगेश वार्ष्णेय शामिल।

-गिरीश चंद्र वार्ष्णेय, अमित वार्ष्णेय, अन्नू अग्रवाल, राकेश, महेश चंद्र और मुकेश सिंह भी कलेक्ट्रेट गए थे।

-सभी ने आरोप लगाया कि आए दिन खास समुदाय के लोग घरों में घुसकर महिलाओं से छेड़छाड़ करते हैं।

-मारपीट करने का भी लगाया आरोप, पुलिस पर कार्रवाई न करने और असुरक्षा की भी बात कही।

मेयर ने क्या कहा?

-मेयर शकुंतला भारती ने शहर की पुलिस और सपा सरकार पर आरोप लगाया।

-मेयर ने कहा कि सपा सरकार में खास समुदाय के लोगों के हौसले बुलंद हैं।

-उन्होंने कहा कि घरों में बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है।

बुधवार को हुआ था बवाल

-बाबरी मंडी में करीब 25 हजार लोग रहते हैं, ये मिली-जुली आबादी वाला अतिसंवेदनशील इलाका है।

-बुधवार रात पति संग लौट रही नवविवाहिता से छेड़खानी और निर्वस्त्र करने की कोशिश हुई थी।

-उसके घरवालों की पिटाई की गई थी। जिसके बाद पथराव और फायरिंग में कई लोग चोटिल हुए थे।

-बीजेपी कार्यकर्ताओं के दबाव के बाद चार लोगों के खिलाफ छेड़खानी और लूट की रिपोर्ट हुई थी।

-पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ पथराव और जान से मारने की धमकी का मुकदमा भी दर्ज किया था।

क्या कह रहा है प्रशासन?

-प्रभारी डीएम अवधेश कुमार तिवारी ने हिंदू परिवारों को भरोसा दिलाया।

-उन्होंने कहा कि बाबरी मंडी इलाके में हालात सामान्य करने के लिए पूरी कोशिश जारी है।

-प्रभारी डीएम ने कहा कि पीड़ित परिवारों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।

-आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भी प्रभारी डीएम ने ऐलान किया है।

दूसरे पक्ष की महिलाओं ने घेरी कोतवाली

-दूसरे समुदाय की महिलाओं ने शुक्रवार को कोतवाली घेरी।

-महिलाओं ने बीजेपी नेताओं के दबाव में एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाया।

-दबिश के बहाने पुलिस पर दरवाजे तोड़ने और बर्बर व्यवहार का भी आरोप लगाया गया।

-महिलाओं का कहना था कि छेड़खानी के बाद दूसरे पक्ष ने भी पथराव किया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

-शहर से सपा विधायक जफर आलम भी इन महिलाओं के साथ एसएसपी लव कुमार से मिले।

फोटोः मीडिया से बात करतीं अलीगढ़ की मेयर शकुंतला भारती

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story