विकास दुबे की लव स्टोरी: दोस्त की बहन से प्यार, फिर ऐसे की शादी

खूंखार अपराधी विकास दुबे की लव स्टोरी साल 1995 में शुरु हुई जब वो शास्त्री नगर के शातिर बदमाश राजू खुल्लर के संपर्क में आया। कुछ ही समय में राजू विकास का जिगरी हो गया।

Published by SK Gautam Published: July 7, 2020 | 11:58 am
Modified: July 7, 2020 | 12:04 pm

कानपुर: कानपुर शूटआउट का मुख्य आरोपी विकास दुबे अभी भी फरार है। उत्तर प्रदेश पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है। कानपुर देहात के बिकरु गाँव में दबिश डालने गए आठ पुलिस कर्मियों को शहीद करने वाले दुर्दांत अपराधी विकास दुबे की लव स्टोरी भी है जो कि बेहद दिलचस्प है। विकास दुबे को एक बदमाश की बहन से प्यार हुआ। दोनों का प्यार परवान चढ़ा तो शादी कर ली। विकास शादी के बाद अपनी पत्नी को लेकर सीधे अपने घर बिकरू पहुंचा था।

1995 में शुरू हुई थी विकास दुबे की प्यार की कहानी

कानपुर की घटना के बाद विकास दुबे को पकड़ने के लिए पुलिस ने ढाई लाख रुपये का इनाम भी रखा है। बता दें कि खूंखार अपराधी विकास दुबे की लव स्टोरी साल 1995 में शुरु हुई जब वो शास्त्री नगर के शातिर बदमाश राजू खुल्लर के संपर्क में आया। कुछ ही समय में राजू विकास का जिगरी हो गया। राजू के साथ विकास का उठना बैठना था। इसी दौरान विकास राजू की बहन सोनू खुल्लर के करीब आ गया।

विकास के साथ राजू खुल्लर की भी ताकत बढ़ती गई

दोनों को एक दूसरे से मोहब्बत हुई फिर विकास ने सोनू से शादी कर ली। राजू बहन के साथ मिलकर विकास के तमाम गैर कानूनी धंधे संभालने लगा। इन वर्षों ने विकास में बेशुमार दौलत कमाई। सब की सब सोनू के नाम करता गया। विकास के साथ राजू खुल्लर की भी ताकत बढ़ती गई।

ये भी देखें: कानपुर शूटआउट: शक के दायरे में 200 पुलिसकर्मी, खंगाले जा रहे हैं कॉल डिटेल

2001 में दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री की हत्या में जेल भी गया

वर्ष 2000 में ताराचंद्र इंटर कालेज के सेवानिवृत्त प्रिंसिपल सिद्धेश्वर पांडेय और वर्ष 2001 में दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री की हत्या के बाद विकास कभी जेल में रहा तो कभी फरार रहा। अगले पांच वर्ष इसी लुकाछिपी में बीते। इस दौरान विकास दुबे की सारी सत्ता काफी हद तक राजू खुल्लर और उसकी बहन सोनू के पास रही।

जब विकास की पत्नी सोनू का संबंध उसके दोस्त से हो गया

विकास की प्रेम कहानी में उस समय बहुत बड़ा ट्विस्ट आया जब इसी बीच सोनू के संबंध विकास के एक बहुत ही करीबी दोस्त से हो गए। तीनों ने विकास से दूरी बनाने का प्रयास किया। जिसके बाद राजू बहन सोनू को लेकर काफी समय तक गायब भी रहा। विकास जब जेल से छूट कर आया तो वो सोनू और राजू के खून का प्यासा हो गया। विकास के भय की वजह से सोनू उसकी शरण में आ गई और भाई हमेशा के लिए यूपी छोड़कर भाग गया।