पूर्व-विधायक के पुत्र ने की हत्या, जानिए कैसे-कैसे क्या हुआ

उत्तर प्रदेश में गुंडागर्दी की घटना थमने का नाम नही ले रहा है। योगी सरकार के तमाम सुशासन के दावे को पोल खोलता ये घटना बता रहा है की योगी सरकार में कितने…

Published by Deepak Raj Published: February 21, 2020 | 2:20 pm
Modified: February 21, 2020 | 2:23 pm

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश में गुंडागर्दी की घटना थमने का नाम नही ले रही है। योगी सरकार के तमाम सुशासन के दावे को पोल खोलता ये घटना बता रहा है की योगी सरकार में कितने लोग अमन-चैन से जिंदगी जी रहे है। राजधानी लखनऊ के पॉश गोमती नगर में बी.टेक छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या मामले में पुलिस ने बीबीडी के छात्र अमन बहादुर को गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार लेने जा रही ये बड़ा फैसला, अब किरायेदार नहीं कर पाएंगे ऐसा..

बता दें कि अमन बहादुर बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधायक समर बहादुर का बेटा है। पुलिस का कहना है कि प्रशांत सिंह की हत्या में अमन बहादुर भी शामिल था। बता दें कि लखनऊ के पॉश इलाके गोमती नगर में सरेआम हुई इस वारदात से सनसनी फैल गई थी।

दिनदहाड़े चाकुओं से गोदकर की हत्या

शुक्रवार (21 फरवरी) को गोमतीनगर इलाके में बी.टेक छात्र प्रशांत सिंह की दिनदहाड़े चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई थी। घटना को अलकनंदा अपार्टमेंट के गेट पर अंजाम दिया गया। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही छात्र प्रशांत का कुछ लोगों से विवाद हुआ था।

 

 

जानकारी के अनुसार प्रशांत किसी की इनोवा कार से अलकनंदा अपार्टमेंट आ रहा था। इनोवा जब अपार्टमेंट के गेट पर पहुंची तो बदमाशों ने कार को रोक लिया और इनोवा का शीशा तोड़कर प्रशांत को बाहर निकाला। इसके बाद अपार्टमेंट के गेट पर ही उसकी चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी थी।

12 से 15 थे हमलावर

वहीं इनोवा चला रहे साजिद ने बताया कि वह लोग लोहिया पार्क की तरफ से आ रहे थे। प्रशांत को उसे अलकनंदा पर छोड़ना था। गेट पर जैसे ही बैरियर खुला, तभी 12 से 15 लड़कों ने उन लोगों को घेर लिया और मार-पीट शुरू कर दी।

ये भी पढ़ें-कांग्रेस का योगी सरकार पर हमला, यूपी को कुपोषण मुक्त बनाने के दावे को बताया झूठा

साजिद ने बताया कि सभी लड़के हमें निकालकर इधर मार रहे थे, वहीं दूसरी तरफ प्रशांत पर चाकुओं से हमला कर दिया, वह भागा और थोड़ी दूर पर जाकर गिर गया। साजिद ने बताया कि ये लोग गालियां देते हुए बस यही है, यही है, कह रहे थे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App