Top

कौन कराएगा इन्‍हें आजाद ? 21 साल से थाने के कबाड़ में कैद हैं अंबेडकर

Admin

AdminBy Admin

Published on 13 April 2016 5:35 PM GMT

कौन कराएगा इन्‍हें आजाद ? 21 साल से थाने के कबाड़ में कैद हैं अंबेडकर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Asif Ali Asif Ali

शाहजहांपुर: देशभर में बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर की 125वीं जयंति धूमधाम से मनाई जा रही है। नेता अंबेडकर के नाम पर वोट बैंक जुटाने में लगे हैं। संविधान निर्माता अंबेडकर को दलितों का मसीहा कहा जाता है। उनके सम्मान में कसीदे गढ़े जाते हैं। लेकिन आज हम एक ऐसी तस्वीर दिखाने जा रहे हैं जिससे बाबा साहब के नाम पर राजनीति करने वालों को शायद थोड़ी शर्म आए।

-ये जगह है यूपी के शाहजहांपुर में एक थाने की। जहां के मालखाने में डॉ.भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पिछले 21 सालों से कबाड़ के बीच पड़ी है।

-शाहजहांपुर के कटरा थाने के मालखाने में अंबेडकर की 10 फिट ऊंची मूर्ति रखी है।

कटरा पुलिस थाना कटरा पुलिस थाना

कैसे पहुंची यहां मूर्ति ?

-29 जुलाई 1995 में जब प्रदेश में पहली बार बसपा की सरकार बनी तो अंबेडकर के अनुयाईयों ने इस प्रतिमा को कटरा चैराहे पर स्थापित किया था।

-कुछ लोगों के विरोध के बाद तत्कालीन तहसीलदार और सीओ ने प्रतिमा को चैराहे से उठवाकर थाने के मालखाने में रखवा दिया था।

-उसके बाद से अंबेडकर की ये प्रतिमा खस्ता हाल में थाने के मालखाने में पड़ी है।

'रहनुमा' ने भी मूंदी आंखें

हैरत की बात है कि कई बार प्रदेश में बसपा की सरकार बनी। बसपा खुद को दलितों-शोषितों का रहनुमा कहती है लेकिन उसने भी इस मुद्दे पर आंखें मूंदे रखी। आज तक किसी भी नेता ने ये जानने की जहमत नहीं उठाई कि आखिर संविधान निर्माता को आखिर इतनी लंबी कैद में क्यों रखा गया। अब दलित छात्रों का संगठन अंबेडकर की मूर्ति को कैद से आजाद कराने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ने के मूड में दिख रही है।

'हमें शर्म आती है'

-पिछले 21 सालों से गंदगी और कचरे के बीच रखी ये प्रतिमा अब बदहाल हो चुकी है।

-स्थानीय लोगों का कहना है कि अंबेडकर की मूर्ति को इस हाल में देखकर हैं शर्म आती है।

-इनका कहना है, कि बाबा साहब के नाम पर राजनीति करने वाले भी चुप क्यों हैं।

-पुलिस के कपड़े भी इसी प्रतिमा के पास सुखाए जाते हैं।

चूंकि इस प्रतिमा से संबंधित कटरा थाने में न ही कोई मुकदमा दर्ज है और नहीं ही कोई विवाद बचा है। फिर भी लावारिस दिखाकर पुलिस और प्रसाशन इसे कबाड़ों के पास रखे हुए हैं।

क्या कहना है बीएसपी एमएलए का

-जलालाबाद विधानसभा से बीएसपी एमएलए नीरज कुशवाहा का कहना है कि उन्हे इस बात की कोई जानकारी नही है कि थाने में कोई अंबेडकर मूर्ति रखी है।

-लेकिन वह थाना हमारे क्षेत्र मे नही आता है।

-मीडिया से इस बात की जानकारी हुई है।

-मूर्ति को निकालने का प्रयास किया जाएगा।

क्या कहना है बीएसपी जिलाध्यक्ष का

-बीएसपी के जिलाध्यक्ष उदय वीर सिंह ने बताया कि पिछले कई साल से अंबेडकर मूर्ति थाने में रखी है।

-मूर्ति को एक संस्था द्वारा चौराहे पर स्थापित कराई जा रही थी।

-लेकिन कुछ स्थानीय लोगों के विरोध के कारण तत्कालीन तहसीलदार और सीओ मूर्ति को थाने ले आए थे।

-जिसके बाद से मूर्ति थाने में ही रखी है।

-हम सभी लोग उस मूर्ति को वहां से निकलवा कर कहीं और स्थापित करने का प्रयास करेंगे।

Admin

Admin

Next Story