Top

इस गांव में सिर्फ डॉक्‍टर, प्रोफेसर-इंजीनियर, KBC में पूछा गया था सवाल

Admin

AdminBy Admin

Published on 20 April 2016 6:38 AM GMT

इस गांव में सिर्फ डॉक्‍टर, प्रोफेसर-इंजीनियर, KBC में पूछा गया था सवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः भले ही बढ़ती आबादी के साथ यूपी में लिटरेसी रेट रफ्तार नहीं पकड़ पाई है, लेकिन अलीगढ़ में एक ऐसा गांव है जहां 100 फीसदी साक्षरता है। यह एशिया में सबसे अधिक साक्षर गांव के तौर पर जाना जाता है। इतना ही नहीं गांव में ज्‍यादातर लोग एनआरआई, डाॅक्टर, इंजीनियर और प्रोफेसर हैं।

साल 2002 में इस गांव को लिम्का बुक आॅफ रिकार्डस दिया जा चुका है। मौजूदा समय में गिनीज बुक आॅफ वर्ल्ड रिकार्डस में दर्ज होने की प्रक्रिया में है।

यह भी पढ़ें... सोने सा दिन, चांदी सी रात चमकती है, गांव की यही तस्वीर दिल में बसती है

अलीगढ़ का  धौरा माफी गांव अलीगढ़ का धौरा माफी गांव

एएमयू का मिला सपोर्ट, गांव में रहते हैं प्रोफेसर और डाॅक्टर

धौरा माफी गांव के पूर्व प्रधान के नुरूल अमीन का कहना है कि मौजूदा समय में इस गांव की साक्षरता दर 100 फीसदी के करीब है। गांव में एनआरआई, डाॅक्टर, इंजीनियर और प्रोफेसर रहते हैं। उनका कहना है कि यह गांव लगभग दो किमी के रेडियस में बसा है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के करीब होने का इस गांव को फायदा मिला। गांव को एएमयू का सपोर्ट मिला। वर्तमान में नुरूल अमीन के परिवार से ही खालिदा ग्राम प्रधान हैं।

अलीगढ़ का  धौरा माफी गांव अलीगढ़ का धौरा माफी गांव

कौन बनेगा करोड़पति में इस गांव पर अमिताभ ने क्‍या कहा था

धौरा माफी गांव के निवासी दिलशाद खान बताते हैं कि टीवी पर आने वाले कौन बनेगा करोड़पति कार्यक्रम में भी इस गांव की गूंज सुनाई दी थी। इसमें सवाल उठा था कि वह कौन सा गांव है जो एशिया का सबसे अधिक साक्षर गांव है। प्रतिभागी इसका उत्तर नहीं दे पाया तो शो होस्ट कर रहे अमिताभ बच्चन ने बताया कि यह गांव अलीगढ़ का धौरा माफी गांव है।

गांव में 4 इंटर काॅलेज और 5-6 जूनियर काॅलेज

नुरूल अमीन ने बताया कि गांव में सरकारी और प्राइवेट दोनों तरह के शिक्षा संस्थान हैं। यहां चार इंटर काॅलेज और 5-6 जूनियर लेबल के का्ॅलेज हैं। यहां के निवासी अमेरिका स्थित प्रतिष्ठिता संस्थान NASA में भी साइंटिस्ट के तौर पर काम करते हैं।

ये है एशिया का सबसे साफ सुथरा गांव

-मेघालय का मावल्यान्नॉंग गांव एशिया का सबसे साफ़ सुथरा गांव माना जाता है।

-इस गांव में 95 परिवार रहते हैं। यहां सुपारी की खेती आजीविका का मुख्य साधन है !

-इस गांव को वर्ष 2003 में एशिया के सबसे साफ गांव के लिए पुरस्कार भी मिल चुका है

-वर्ष 2005 में भारत का सबसे स्वच्छ गांव बनने का गौरव प्राप्त हुआ।

ऐसा भी गांव, वाई फाई और जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरे

-गुजरात का पुंसारी गांव आदर्श गांव के तौर पर जाना जाता है।

-गांव के प्राइमरी स्कूलों में कम्प्यूटर है और पूरे गांव में वाईफ़ाई की सुविधा है।

-हर घर में बिजली और मिनरल वाटर की व्यवस्था।

-एक वाई-फाई टॉवर गांव में 24 घंटे फ्री इंटरनेट कनेक्टिविटी उपलब्ध कराता है।

-जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगे हैं।

यह है भारत का सबसे सुरक्षित गांव

-महाराष्ट्र का शनि सिंगनापुर ऐसा गांव है, जहां किसी भी घर के दरवाजे पर फाटक नहीं हैं।

-यहां लोग खिड़कियों पर भी दरवाजे नहीं लगाते।

-शनि सिंगनापुर को पूरे भारत में सबसे सुरक्षित माना जाता है, यहां कोई चोरी नहीं होती है।

-इस गांव में एक भी पुलिस थाना मौजूद नहीं है, यहां देश का पहला लॉकलेस बैंक खुला है।

-इस सुरक्षा का कारण यहां स्थित शनिदेव का मंदिर है।

-मान्यता है कि यहां अगर कोई चोरी करेगा तो उसे शनिदेव के प्रकोप का सामना करना पड़ेगा।

Admin

Admin

Next Story