×

योगी से मिले मृतक IAS अनुराग के परिजन, CBI जांच का मिला आश्वासन, FIR दर्ज

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 May 2017 7:40 AM GMT

योगी से मिले मृतक IAS अनुराग के परिजन, CBI जांच का मिला आश्वासन, FIR दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: कर्नाटक कैडर के आईएएस अनुराग तिवारी की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए उनके परिजनों ने सोमवार को सीएम आदित्यनाथ योगी से उनके ऑफिस में मुलाकात की। परिजनों सीबीआई जांच कराने की मांग की है। लखनऊ में संदिग्ध हालात में आईएएस अनुराग तिवारी की मौत के मामले में मृतक के भाई ने सोमवार को हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

मृतक के भाई मयंक के मुताबिक, अनुराग कर्नाटक सरकार में कई घोटाले की जांच कर रहे थे और एक बड़ा खुलासा करने वाले थे। उससे पहले उनकी संदिग्थ परिस्थितियों में मौत होना कई सवाल खड़े करता है। मुलाकात के दौरान सीएम योगी ने परिजनों को आश्वासन दिया कि उनकी मांगों पर विचार किया जाएगा

यह भी पढ़ें...मृतक IAS अनुराग तिवारी की मौत की जांच में जुटी पुलिस, कर्नाटक सरकार से मांगी जानकारी

मृतक अनुराग तिवारी की भाभी शुभ्रा ने कहा कि उन्हें इंसाफ चाहिए। वो यही उम्मीद लेकर सीएम के पास आई हैं कि मौत का सच सामने आएगा और निष्पक्ष जांच कराई जाएगी। बता दें कि अनुराग तिवारी मीराबाई मार्ग स्थित वीआईपी गेस्ट हाउस से चंद कदम की दूरी पर बीते बुधवार की सुबह मृत मिले थे।

यह भी पढ़ें...IAS अनुराग तिवारी के शव से लिपटकर मां बोली- बेटा, मुझे भी अपने साथ ले चल

आगे की स्लाइड्स में देखिए, ुकछ और फोटोज...

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story