Top

नोएडा के तीनों अथॉरिटी के चेयरमैन बने प्रवीर कुमार, प्रदीप नए APC

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 July 2016 7:32 PM GMT

नोएडा के तीनों अथॉरिटी के चेयरमैन बने प्रवीर कुमार, प्रदीप नए APC
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ/नोएडाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद सोमवार को यूपी सरकार ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी के चेयरमैन पद से आईएएस रमारमण को हटा दिया है। उनकी जगह प्रवीर कुमार को तीनों अथॉरिटी का नया चैयरमैन बनाया गया है। प्रवीर अभी तक कृषि उत्पादन आयुक्त (एपीसी) थे और चीफ सेक्रेटरी की दौड़ में दीपक सिंघल से मात खा गए थे। प्रदीप भटनागर को प्रवीर कुमार की जगह एपीसी बनाया गया है। वह कृषि विभाग के प्रमुख सचिव थे।

क्या कहा था हाईकोर्ट ने?

-इलाहाबाद हाईकोर्ट ने रमारमण को तीनों अथॉरिटी का अध्यक्ष बनाए रखने पर सवाल उठाया था।

-हाईकोर्ट ने सरकार से कहा था कि रमारमण को इन पदों से तुरंत हटाया जाए।

-कोर्ट ने सवाल पूछा था कि जब यूपी में और भी काबिल अफसर हैं, तो रमारमण को ही क्यों तीनों अथॉरिटी का अध्यक्ष बनाया गया है।

-अदालत ने भ्रष्टाचार से संबंधित एक अर्जी पर सुनवाई करते हुए ये टिप्पणी की थी।

और किन आईएएस का तबादला?

-डॉ. अरुणवीर सिंह अब नोएडा के एसीईओ होंगे। वह अब तक यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी के सीईओ थे।

-दीपक अग्रवाल ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के नए सीईओ बनाए गए हैं। वह ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के एसीईओ थे।

-प्रमोद चंद्र गुप्ता मैनपुरी के डीएम होंगे। वह ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के एसीईओ थे।

-संजीव सरन से प्रमुख सचिव एनआरआई विभाग ले लिया गया है। वह अब प्रमुख सचिव वन और पर्यावरण रहेंगे।

-संजय अग्रवाल अब प्रमुख सचिव ऊर्जा के साथ एनआरआई विभाग भी देखेंगे।

-प्रमुख सचिव राजस्व सुरेश चंद्र अब प्रमुख सचिव सिंचाई होंगे।

-अनीता भटनागर जैन को प्रमुख सचिव खेलकूद से राजस्व विभाग में प्रमुख सचिव बनाया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story