Top

गोमतीनगर में वैदिक मंत्रोच्चार से हुआ कालीदेवी की प्राण प्रतिष्ठा

By

Published on 9 May 2016 1:27 PM GMT

गोमतीनगर में वैदिक मंत्रोच्चार से हुआ कालीदेवी की प्राण प्रतिष्ठा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: कालीबाड़ी मंदिर में सोमवार को कालीदेवी की प्राण प्रतिष्ठा वैदिक मंत्रोच्चार के बीच की गई। भारत की 11 शक्तिपीठों के पुरोहितों ने इस धार्मिक अनुष्ठान में भाग लिया। इस धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन गोमतीनगर कालीबाड़ी समिति ने सुबह 6 बजे शुरू किया।

ट्रांसगोमती क्षेत्र की पहली कालीबाड़ी

-यह ट्रांसगोमती क्षेत्र की पहली कालीबाड़ी है।

-देवी काली को स्नान कराने के बाद उन्हें सोने और चांदी के जेवरों से सजाया गया।

-इसके बाद देवी का आह्वाहन धार्मिक अनुष्ठानों से किया गया।

-इस अवसर पर एक यज्ञ भी हुआ।

KaliBari-Mandir

क्या कहते हैं कालीबाड़ी समिति के अध्यक्ष

-कालीबाड़ी समिति के अध्यक्ष शेखर चक्रवर्ती ने कहा कि समिति केवल धार्मिक कार्यक्रमों तक ही सीमित नहीं रहेगी बल्कि सामाजिक गतिविधियों में भी भाग लेगी।

-उन्होंने कहा कि हमारे परिसर के दरवाजे उन लोगों के लिए खुले रहेंगे जिनके संबंधी हॉस्पिटल में भर्ती हैं और जिनके पास रहने की जगह नहीं है।

Next Story