एक तरफ CBI की छापेमारी और ईडी की FIR, दूसरी तरफ जारी है UP में अवैध खनन

अखिलेश यादव राज में हुए खनन में घोटाले में एक तरफ जहाँ सीबीआई के छापेमारी के बाद ईडी ने आईआईएस अफसर बी चन्द्रकला और पूर्व सीएम अखिलेश यादव समेत 11 लोगों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है तो दूसरी तरफ निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म डा0 रोशन जैकब ने जालौन में छापेमारी कर अवैध खनन और ओवरलोडिंग के इलज़ाम में 52 गाड़ियों को सीज़ करते हुए सर्वेक्षक को सस्पेंड कर दिया है योगी राज में अवैध खनन के खिलाफ अब तक की सब से बड़ी कार्रवाई है।

एक तरफ CBI की छापेमारी और ईडी की FIR, दूसरी तरफ जारी है UP में अवैध खनन

लखनऊ: अखिलेश यादव राज में हुए खनन में घोटाले में एक तरफ जहाँ सीबीआई के छापेमारी के बाद ईडी ने आईआईएस अफसर बी चन्द्रकला और पूर्व सीएम अखिलेश यादव समेत 11 लोगों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है तो दूसरी तरफ निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म डा0 रोशन जैकब ने जालौन में छापेमारी कर अवैध खनन और ओवरलोडिंग के इलज़ाम में 52 गाड़ियों को सीज़ करते हुए सर्वेक्षक को सस्पेंड कर दिया है योगी राज में अवैध खनन के खिलाफ अब तक की सब से बड़ी कार्रवाई है।

यह भी पढ़ें…..अवैध खनन : अखिलेश यादव के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज

यूपी में एक तरफ जहाँ सपा शासनकाल में हुए अवैध खनन को लेकर सीबीआई जांच ने रफ़्तार पकड़ी हुई है वहीं प्रदेश में अवैध खनन का गोरखधंधा बदस्तूर जारी है। डायरेक्टर माईनिंग डा रौशन जैकब ने जिला प्रशासन के साथ मिल कर अवैध खनन और उपखनिजों के अवैध परिवहन के खिलाफ जनपद जालौन में स्वीकृत मौरम के खनन पट्टों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान ओवरलोडिंग के कुल 52 गाड़ियां पकड़ी गई हैं। इनमें से 10 वाहनों को जनपद जालौन के थाना बन्धौली और 42 वाहनों को थाना कदौरा में सीज किया गया है। इन वाहनों पर शास्ति (पेनाल्टी) एवं खनिज मूल्य की वसूली भी की जायेगी।

यह भी पढ़ें……अवैध खनन पर शिकंजे की तैयारी, गोंडा व फतेहपुर की तर्ज पर चलेगा अभियान

डा0 रोशन जैकब ने बताया कि जनपद जालौन के ग्राम बन्धौली में स्वीकृत 5 वर्षीय खनन पट्टा एवं ग्राम पथरेटा में मे0 यूरेका माइन्स के पक्ष में स्वीकृत खनन पट्टों की गलत पैमाइश करने के कारण सर्वेक्षक रामनाथ यादव को सस्पेंड कर दिया गया है। इसके साथ ही पर्यवेक्षणीय कार्य में शिथिलता बरतने के आरोप में खान अधिकारी, जालौन को आरोप पत्र निर्गत किया जायेगा।

यह भी पढ़ें……UP में अवैध खनन रोकने के लिए सरकार ने बनाया ये प्लान, जानिए क्या?

निदेशक ने बताया कि ग्राम पथरेटा में स्वीकृत अल्प अवधि के खनन अनुज्ञा पत्र की पैमाइश सर्वेक्षक द्वारा सही ढंग से नहीं की गयी है, जिसकी पुनः पैमाइश सर्वेक्षक द्वारा की जायेगी। सर्वेक्षण उपरान्त यदि अवैध खनन पाया जाता है तो सम्बन्धित पट्टेधारक/परमिट धारकों को नोटिस भेजकर रायल्टी एवं खनिज मूल्य वसूलने की कार्यवाही खान अधिकारी, जालौन द्वारा की जायेगी। उन्होंने बताया कि ग्राम पथरेटा में मे0 यूरेका माइन्स के पक्ष में स्वीकृत 05 वर्षीय खनन पट्टे के पट्टेधारक द्वारा बगल की सरकारी जमीन पर एवं रिक्त पड़े हुए आवंटित होने वाले नये खण्ड में अवैध खनन किया गया। इसके अतिरिक्त पट्टेधारक द्वारा पर्यावरण स्वच्छता प्रमाण पत्र में उल्लिखित खनिज की मात्रा से अधिक का खनन किया गया। इसके लिए खनन पट्टे का निरस्तीकरण एवं पट्टेधारक को ब्लैकलिस्ट किये जाने की कार्यवाही की जा रही है।

यह भी पढ़ें……अवैध खनन और वित्तीय अनियमितताओं की शिकायतों के चलते सीएम योगी आदित्यनाथ ने फतेहपुर और गोंडा के डीएम को किया

डा0 रोशन जैकब ने बताया कि ग्राम पथरेटा में एसोसिएटेड कार्मस के पक्ष में स्वीकृत अल्पावधि का खनन अनुज्ञा पत्र धारक द्वारा अपने क्षेत्र के बाहर अवैध खनन किया गया। इसके लिए अनुज्ञा पत्र को निरस्त करते हुए शास्ति वसूली जायेगी।

यह भी पढ़ें……सर्वोच्च न्यायालय ने गोवा के 88 खनन पट्टे 15 मार्च तक रद्द किए

निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म ने बताया कि जनपद जालौन में स्वीकृत खनन पट्टों पर सी0सी0टी0वी0 कैमरे वाहन निकासी में लगे हुए पाये गये, परन्तु पट्टा क्षेत्र में हो रहे खनन संक्रियाओं के सुपरविजन के उद्देश्य से कोई भी सी0सी0टी0वी0 कैमरा लगा हुआ नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि खनन पट्टा क्षेत्रों में सीमा स्तम्भ सही ढंग से लगे हुए नहीं पाये गये, जिसकी जियोटैगिंग पर भी जिला स्तर पर विचार किया जा सकता है।