×

शिकायतों के निस्तारण में UP में नंबर 1 बना बहराइच का मिहीपुरवा तहसील

एसडीएम ने कहा कि तहसील के कर्मचारियों के सहयोग से सफलता मिली है। इसमें सभी का पूरा योगदान है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के सहयोग से सफलता जारी रहेगी।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 10 Feb 2019 12:23 PM GMT

शिकायतों के निस्तारण में UP में नंबर 1 बना बहराइच का मिहीपुरवा तहसील
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बहराइच: फरियादियाें के शिकायतों के निस्तारण के लिए बहराइच के मिहीपुरवा तहसील को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। शासन ने रिपोर्ट जारी करते हुए मोतीपुर तहसील को 65 में से 65 अंक प्रदान किए हैं।

ये भी पढ़ें-प्रियंका गांधी के कल लखनऊ आगमन की जोरों पर तैयारी, जानिए पूरा कार्यक्रम

ग्रामीण क्षेत्र में सुनवाई के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री पोर्टल लागू किया है। उसी के तहत तहसीलों में ग्रामीणों की समस्याएं सुनी जा रही हैं। लेकिन इनमें कुछ तहसील पिछड़े हैं तो कुछ आगे निकल रहे हैं। जिले की छह तहसीलों में मोतीपुर (मिहींपुरवा) तहसील को सुनवाई के मामले में शासन ने पहला स्थान दिया है। अधीनस्थ अधिकारियों की मूल्यांकन रिपोर्ट में मोतीपुर तहसील को 65 में 65 अंक देकर प्रदेश में पहली रैंक से नवाजा है।

ये भी पढ़ें- विज्ञान के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकता है: सीएम योगी

उपजिलाधिकारी कीर्ति प्रकाश भारती ने बताया कि तहसील में विभिन्न पोर्टल के माध्यम से 1318 शिकायतें प्राप्त हुई। इनमें से 1252 प्रार्थनापत्रों का निस्तारण कर के मिहींपुरवा तहसील को पहला स्थान मिला है। तहसील प्रशासन को विभिन्न पोर्टल के तहत मिले प्रार्थना पत्रो में लगभग सभी शिकायतो का निस्तारण कर प्रार्थी को राहत दी गयी। निस्तारण के क्रम में केंद्र सरकार के संदर्भ में 15 मामले निस्तारित किए गए। मुख्यमंत्री संदर्भ में 49, उप मुख्यमंत्री के निर्देश पर दो, जिलाधिकारी के निर्देश पर 31, एंटी भूमाफिया के संदर्भ में 122 निस्तारित, संपपूर्ण समाधान के 540, लाइन प्राप्त शिकायतों में 294 मामले निस्तारित किये गये।

ये भी पढ़ें-कैबिनेट मंत्री की बहु के साथ लूट को दिया था अंजाम, ऐसे हुआ आरोपी गिरफ्तार

एसडीएम ने बताया कि अधीनस्थ अधिकारियों की मूल्यांकन रिपोर्ट में 65 में 65 अंक प्राप्त कर 100 प्रतिशत के साथ उपजिलाधिकारी मिहींपुरवा को 2671 पत्रों के निस्तारण तहसीलो में पहली रैंक दी गयी है। एसडीएम ने कहा कि तहसील के कर्मचारियों के सहयोग से सफलता मिली है। इसमें सभी का पूरा योगदान है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के सहयोग से सफलता जारी रहेगी।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story