×

अधूरी सड़कों का करा दिया लोकार्पण

raghvendra

raghvendraBy raghvendra

Published on 17 Aug 2018 10:08 AM GMT

अधूरी सड़कों का करा दिया लोकार्पण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नरेन्द्र सिंह

रायबरेली: उत्तर प्रदेश की अफसरशाही अपने विभाग के आला अधिकारियों, मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक को गुमराह करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। ताजा मामला सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली का है जहां पीडब्लूडी विभाग में करोड़ो की लागत से बन रही सडक़ों का मुख्यमंत्री से लोकार्पण करवा दिया गया। जब मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित सड़कों की छानबीन शुरू की गयी तो लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की करतूत खुलकर सामने आई। पता चला कि उन सड़कों का सीएम योगी आदित्यनाथ से लोकार्पण करवा दिया गया जिन पर अभी तक सिर्फ बोल्डर और गिट्टी ही पड़ी है। इस मामले में रायबरेली से लेकर लखनऊ तक अफसरों की भूमिका सवालों के घेरे में है।

रायबरेली लोकनिर्माण विभाग इस समय जिले में १५ सड़कों का निर्माण करवा रहा है। बीती 5 अगस्त को राजधानी लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन सडक़ों का लोकार्पण किया। इन सडक़ों का ब्योरा इस प्रकार है।

1. गणेशपुर संपर्क मार्ग 71. 55 लाख

2. लखनापुर संपर्क मार्ग 7. 93 लाख

3. सवैया राजे संपर्क मार्ग 16 . 93 लाख

4. अलोदीपुर संपर्क मार्ग 21. 16 लाख

5. खोनपुर संपर्क मार्ग 9. 88 लाख

6. चरुहार वीक संपर्क मार्ग 25. 44 लाख

7. खालिकपुर संपर्क मार्ग 31. 60 लाख

8. बछियैआपुर संपर्क मार्ग 22. 71 लाख

9. नन्दौरामाफी सम्पर्क मार्ग 21.52 लाख

10. अमीरन पुरपकरा सम्पर्क मार्ग 57. 57 लाख

11. कोरिया संपर्क मार्ग 71. 06 लाख

12. नतरपुर सम्पर्क मार्ग 66. 63 लाख

13. मनिहारसर्कि संपर्क मार्ग 117. 70 लाख

14. हरकिशनपुर टिकरा संपर्क मार्ग 16. 06 लाख

15. उमरन सम्पर्क मार्ग 26. 51 लाख

इन सडक़ों का अभी भी निर्माण चल रहा है। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के नियंत्रण वाले लोक निर्माण विभाग ने अपने विभागीय मंत्री के साथ ही मुख्यमंत्री की आंखों में धूल झोंकते हुए लखनऊ में इन आधी अधूरी सडक़ों का लोकार्पण करा दिया जबकि जमीनी हकीकत यह है कि इन सडक़ों में से अधिकांश सडक़ों का निर्माण भी नहीं हुआ है। ऊंचाहार ब्लाक में बन रही सवैया राजे की सडक़ पर अभी केवल गिट्टी डाली गयी है जबकि इसी ब्लाक की मनिहार सर्की सडक़ा का विभागीय जेई ठेकेदार के साथ निरीक्षण कर रहे हैं।

सडक़ पर पड़ी है सिर्फ गिट्टी

कुछ इसी तरह की हालत गौरा ब्लाक में बन रहे खोनपुर सम्पर्क मार्ग और चरुहार वीक की सडक़ की है। विभागीय अधिकारियों ने अपनी पीठ थपथपाने के लिए इस अधूरी और घटिया सडक़ का लोकार्पण करवा दिया, लेकिन अभी भी सडक़ पर बहुत सा काम होना बाकी है। इस प्रकरण में पीडब्लूडी के अधिकारियों की कलई खुलकर सामने आ गयी है। अधिकारियों ने डलमऊ तहसील के पकरा अमीरनपुर गांव की सडक़ के निर्माण का ठेका दिया और ठेकेदार ने सडक़ पर गिट्टी डाल दी, सडक़ पर गिट्टी पड़ते ही विभाग के अधिकारी उत्साहित हो उठे और उन्होंने सडक़ का उद्घाटन करवा दिया जबकि इस सडक़ पर राहगीर गिरकर चोटिल हो रहे हैं।

raghvendra

raghvendra

राघवेंद्र प्रसाद मिश्र जो पत्रकारिता में डिप्लोमा करने के बाद एक छोटे से संस्थान से अपने कॅरियर की शुरुआत की और बाद में रायपुर से प्रकाशित दैनिक हरिभूमि व भाष्कर जैसे अखबारों में काम करने का मौका मिला। राघवेंद्र को रिपोर्टिंग व एडिटिंग का 10 साल का अनुभव है। इस दौरान इनकी कई स्टोरी व लेख छोटे बड़े अखबार व पोर्टलों में छपी, जिसकी काफी चर्चा भी हुई।

Next Story