×

Prayagraj News: अमृत महोत्सव पर 13 अगस्त के शहीदों को किया गया नमन, मशाल जूलुस निकालकर दी श्रध्दाजंली

Prayagraj News: शहीद अब्दुल मजीद राईन की शहादत दिवस पर शहादत स्थल घंटाघर पर 13 अगस्त 1943 को शहीद हुए अमर शहीद अब्दुल मजीद राइन को याद करते हुए श्रध्दाजंली दी गई।

Syed Raza
Report Syed Raza
Updated on: 13 Aug 2022 5:06 PM GMT
Tributes were paid to the martyrs of August 13 on Amrit Mahotsav, took out torch procession and paid tribute
X

प्रयागराज: अमृत महोत्सव पर 13 अगस्त के शहीदों को किया गया नमन

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Prayagraj News: शहीद अब्दुल मजीद राईन की शहादत दिवस (martyrdom day) पर शहादत स्थल घंटाघर पर 13 अगस्त 1943 को शहीद हुए अमर शहीद अब्दुल मजीद राइन को आजादी के अमृत महोत्सव पर याद करते हुए नम आंखों से शहीद के भतीजे कादिर भाई ने पुषपांजली अर्पित कर शहीद चाचा के साथ मां भारती के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले सभी अमर बलदानियों को श्रध्दा सुमन अर्पित किया।

अमृत महोत्सव पर 13 अगस्त के शहीदों किया गया नमन

उन्होंने बताया कि गाँधी जी के आह्वान पर अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन (British Quit India Movement) प्रयागराज में जान्सेनगंज चौराहा से घंटाघर ओर आ रहे नौजवानों ने राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा को लहराते हुए ,अग्रेजों भारत छोड़ो , इंक़लाब जिंदाबाद नारा बुलंद करते हुए शहीद अब्दुल मजीद राईन के नेतृत्व में जानसेनगंज चौराहे से घंटाघर की ओर बढ़ रहे थे, तभी अंग्रेजी हुकूमत के ज़ालिम हुक्मरानो ने शहीद अब्दुल मजीद राईन, शहीद मुरारी मोहन भट्टाचार्य एवं भगवती प्रसाद को सीने को छलनी कर दिया और भारत मां वीर सपूतों को हमेशा के लिए सुला दिया ।

मशाल जूलुस निकालकर शहीद अब्दुल मजीद को दी श्रध्दाजंली

13 अगस्त 1943 की यह घटना की याद में शनिवार को शहीद अब्दुल राईन के भतीजे मो० कादिर ( कादिर भाई ) ने देश के शहीद हुए अपने चाचा के शहादत स्थल से एक मशाल जूलुस घंटाघर से उठकर बजाजा पट्टी होते हुए नीम के पेड़ के नीचे शहीद स्थल पर श्रध्दाजंली देने के पश्चात् समाप्त हुई। मशाल जुलूस में बड़ी संख्या में व्यापारियों ने हाथों में मशाल लेकर वंदे मातरम, जय हिंद, अमर शहीद अमर रहें, भारत माता की जय के जयकारों के साथ चौक स्थित नीम के पेड़ के नीचे पहुंच कर समाप्त हुई।

इस अवसर पर शहीद के भतीजे मोहम्मद कादिर (कादिर भाई ) मो० शकील राईन , सुशील खरबंदा , शिवशंकर सिंह ,नरेन्द्र खेड़ा मान्टू , हिमांशु निक्की गुप्ता , शरद मालवीय ,अखिलेश सिंह, नेम यादव पार्षद, धनजंय सिंह , पार्षद शिवसेवक सिंह , कमलेश सिंह , फय्याज अहमद , दिलजीत सिंह बंटी , मोइन , मो० आमिर , दिनेश सिंह , सुशांत केसरवानी ,शहाबुद्दीन , मुसाब खान, अमित साहू आदि लोगो ने भी शहीद नमन करते हुए अपने श्रध्दासुमन अर्पित किया।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story