×

India Smart City Award 2021: इंडिया स्मार्ट सिटी अवार्ड कांटेस्ट में लहराया परचम, उत्तर प्रदेश को मिला पहला स्थान

India Smart City Award 2021: स्मार्ट सिटीज सिटी लीडरशिप अवार्ड में वाराणसी स्मार्ट सिटी को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ है।

Shreedhar Agnihotri

Shreedhar AgnihotriReport Shreedhar AgnihotriVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 25 Jun 2021 5:07 PM GMT

Uttar Pradesh has received the first prize for excellent and innovative work in the Smart City Mission
X
उत्तर प्रदेश का प्रथम स्थान प्राप्त (सोशल मीडिया)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

India Smart City Award 2021: देश के सभी राज्यों में स्मार्ट सिटी मिशन में उत्कृष्ट एवं अभिनव कार्य के लिए उत्तर प्रदेश राज्य को प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ है। स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत अलग-अलग द्वितीय राउंड के शहरों में देश की चयनित 100 स्मार्ट सिटीज में प्रथम स्थान पर आगरा स्मार्ट सिटी तथा तृतीय स्थान पर वाराणसी रहा।

स्मार्ट सिटी पुरस्कारों के अलग अलग सेगमेंट में इकॉनमी प्रोजेक्ट अवार्ड से आगरा को तृतीय स्थान, माइक्रो स्किल डेवलपमेंट सेंटर्स के निर्माण और सफलव उत्कृष्ट संचालन के लिए द्वितीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है। इसी प्रकार वाटर प्रोजेक्ट अवार्ड में वाराणसी स्मार्ट सिटी को अस्सी नदी के पर्यावरणीय पुनरुद्धार (इको-रेस्टोरेशन) के लिए प्रथम स्थान प्राप्त हुआ।

वाराणसी स्मार्ट सिटी को द्वितीय स्थान

स्मार्ट सिटीज सिटी लीडरशिप अवार्ड में वाराणसी स्मार्ट सिटी को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ है। कोविड इनोवेशन अवार्ड श्रेणी में वाराणसी को कल्याण डोम्बिवली के साथ संयुक्त रूप से पुरस्कृत किया गया।

इसी श्रेणी के चतुर्थ चक्र में चयनित स्मार्ट सिटीज में सहारनपुर को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। भारत सरकार स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत उत्तर प्रदेश से 10 शहरों का चयन अलग अलग राउंड में किया गया।

प्रथम राउंड में लखनऊ, द्वितीय राउंड में कानपुर, आगरा, वाराणसी, तृतीय राउंड में प्रयागराज, अलीगढ़ और झांसी, चतुर्थ राउंड बरेली, सहारनपुर और मुरादाबाद का चयन हुआ। इन शहरों में स्मार्ट सिटी मिशन फंड के अंतर्गत कुल 476 प्रोजेक्ट्स जिनका लेआउट रुपए 9609 करोड़ चयनित की गई।

स्मार्ट सिटी मिशन का कांसेप्ट नगरीय समग्र विकास में लाइट हाउस के रूप में तथा यह पूर्णतया सिटीजन सेंट्रिक मिशन है जिसमें परियोजनाओं का चयन जनभागीदारी एवं जनउपयोग के आधार पर स्मार्ट सिटी मिशन अपने बोर्ड के माध्यम से किया जाता है।

स्मार्ट सिटी मिशन

बतातें चलें कि केंद्रीय परियोजना के अंतर्गत चयनित स्मार्ट सिटी के अलावा शेष 7 नगर निगमों में उपरोक्त स्मार्ट सिटी की तर्ज पर स्टेट स्मार्ट सिटी योजना लागू की गई, जिससे प्रदेश के समस्त बड़े नगरीय क्षेत्रों का समग्र विकास जनभागीदारी के आधार पर किया जा सके तथा वहां पर जनउपयोगी सुविधाओं को बेहतर बनाया जा सके।

नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने इस अवसर पर सभी पुरस्कृत शहरों को बधाई देते हुए कहा कि सभी विजेताओं को बहुत बहुत शुभकामनाएं। यह मुख्यमंत्री जी के सतत मार्गदर्शन और समीक्षा से सम्भव हुआ है।

अपर मुख्य सचिव डॉ रजनीश दुबे ने कहा कि उत्तर प्रदेश को स्मार्ट सिटी मिशन में प्रथम स्थान प्राप्त हो सका है। इस वर्ष सभी स्मार्ट सिटी भौतिक और वित्तीय प्रगति तेजी से करे जिससे अगले वर्ष अधिक से अधिक पुरस्कार प्रदेश की स्मार्ट सिटी को प्राप्त हो सके।

स्मार्ट सिटी मिशन के 6 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत चयनित 100 शहरों के मध्य कांटेस्ट के उपरान्त हरदीप सिंह पुरी, मंत्री आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा विभिन्न श्रेणियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्यों व शहरों के नाम की घोषणा की गयी। घोषणा के दौरान दुर्गाशंकर मिश्रा, सचिव व कुणाल कुमार, संयुक्त सचिव व मिशन निदेशक, आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार आदि वर्चुअल रूप से उपस्थित रहे।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story