×

Indian Road Congress2022: गडकरी ने यूपी को 8000 करोड़ की दी सौगात, 2024 से पहले 5 लाख करोड़ का प्रोजेक्ट देने का वादा

Indian Road Congress2022: सीएम योगी व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इंडियन रोड कांग्रेस के 81वें अधिवेशन का किया शुभारंभ।

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 8 Oct 2022 2:20 PM GMT
Indian Road Congress2022
X

सीएम योगी व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इंडियन रोड कांग्रेस के 81वें अधिवेशन का किया शुभारंभ

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow News: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शनिवार को 81वें इंडियन रोड कांग्रेस का उद्घाटन हुआ. 11 अक्टूबर तक चलने वाले इस सम्मेलन में देशभर के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने उत्तर प्रदेश के लिए आठ हजार करोड़ के प्रोजेक्ट का एलान किया. इसके साथ ही उन्होंने 2024 से पहले पहले उत्तर प्रदेश को 5 लाख करोड़ के नए प्रोजेक्ट देने का वादा किया. उन्होंने कहा कि हमारे पास पैसों की कोई कमी नहीं है. हमें गुणवत्ता और कार्य में और तेजी लानी होगी. जिससे हम अमेरिका के बराबर पर खड़े हो सकें. उन्होंने अपने कार्यों को गिनाते हुए कहा मुंबई, पुणे, दिल्ली, मेरठ में बने एक्सप्रेसवे की तरह लखनऊ से कानपुर आधे घंटे में पहुंचने की बात को फिर से दोहराया. नितिन गडकरी इससे पहले भी यह कई बार बोल चुके हैं लेकिन अभी तक इस प्रस्ताव पर कोई कार्य प्रगति आगे नहीं दिखी है. गडकरी ने एक बार फिर से इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने की बात कही.

इंडियन रोड कांग्रेस के सम्मेलन में डेलीगेट्स से मिलते सीएम योगी

प्रदूषण को कम करने और परिवहन लागत में कमी लाने के लिए नितिन गडकरी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील करते हुए कहा की वह मुंबई में डबल डेकर की तरह उत्तर प्रदेश परिवहन में भी बदलाव करें. इलेक्ट्रिक बसों को ज्यादा से ज्यादा चलाएं. इससे जहां खर्च में कमी आएगी वहीं पहले से कम किराया देकर आम लोग एसी में सफर भी कर सकेंगे और प्रदूषण भी खत्म होगा. उन्होंने कहा कि हम आपसे अपील करते हैं कि अगले 5 सालों में उत्तर प्रदेश से डीजल पेट्रोल को पूरी तरह से खत्म कर दीजिए. नितिन गडकरी ने आए हुए लोगों से कहा इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में अमृत मिलेगा जो आने वाले समय में काफी कारगर साबित होगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सम्मेलन में सड़कों के निर्माण में नई तकनीक की नई डिजाइन समेत कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी जो सबसे बड़ा मुद्दा होगा वह रोड सेफ्टी का होगा. जिससे हर वर्ष जो हजारों लोगों की दुर्घटना में जान जाती है. उस पर अंकुश लगाया जा सके.

केंद्रीय मंत्री मत्री नितिन गडकरी व वीके सिंह के साथ सीएम योगी

वहीं अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जहां उत्तर प्रदेश में तेजी से बन हाईवे और एक्सप्रेसवे का जिक्र करते हुए कहा कि अब प्रदेश की पहचान एक्सप्रेस वे प्रदेश के रूप में हो रही. उन्होंने कहा कि जो कार्य चल रहा है वह आगे भी निरंतर जारी रहेगा. एफडीआर तकनीक लागू करने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य है. हमने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से कहा है कि तकनीकों से जुड़े छात्रों को जरूर बुलाएं. इससे उनके अंदर इनोवेटिव होने में मदद मिलेगी. मुख्यमंत्री ने सड़क हादसों पर दुख जताते हुए कहा कि इसे रोकने की जरूरत है इसके लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं जिससे सड़क हादसों में जो हजारों जाने जाती हैं उस पर कमी लाई जा सके. एक आंकड़े के मुताबिक उत्तर प्रदेश में हर साल 20000 लोगों की सड़क दुर्घटना में मौत होती है.

नितिन गडकरी, सीएम योगी को जानकारी देते अधिकारी

उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद ने अधिवेशन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के कार्यों की जमकर सराहना की और शाहजहांपुर समेत अन्य हाईवे की सौगात देने का शुक्रिया भी अदा किया. जितिन प्रसाद ने कहा कि नितिन गडकरी ने जिस तरह से उत्तर प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाने में मदद की है वह ऐतिहासिक है. यूपी में हाईवे और एक्सप्रेसवे के तेजी से निर्माण होने से यहां निवेश को भी बढ़ावा मिला है और आने वाले समय में उत्तर प्रदेश भारत का ब्रांड एंबेसडर भी बनने का काम करेगा उन्होंने कहा कि 8 वर्षों में 60000 किलोमीटर हाईवे बनाए गए हैं. जितिन प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है हम सब 5 वर्षों में यूपी में एक भी रेलवे फाटक नहीं छोड़ेंगे हर जगह ओवरब्रिज बनाने का काम तेजी से चल रहा है.

Jugul Kishor

Jugul Kishor

Next Story