Top

50 सालों तक हमारी ट्रेनों में नहीं था टॉयलेट, जानिए और भी रोचक फैक्ट्स

Admin

AdminBy Admin

Published on 25 Feb 2016 8:56 AM GMT

50 सालों तक हमारी ट्रेनों में नहीं था टॉयलेट, जानिए और भी रोचक फैक्ट्स
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को अपना दूसरा बजट पेश किया। उन्होंने रेलवे के रिफॉर्म पर फोकस करने की कोशिश की है। हर दिन 2.5 करोड़ यात्री रेल में सफर करते हैं। आइए आपको बताते हैं इंडियन रेलवे से जुड़े कुछ और भी रोचक फैक्ट्स।

-भारत में पहली रेल बॉम्बे (अब मुंबई) से ठाणे के बीच 16 अप्रैल 1853 को चली थी। इस 14 बोगी की ट्रेन को 3 इंजन खींच रहे थे, जिनका नाम था- सुल्तान, सिंध और साहिब।

-इंडियन रेलवे का मैस्कॉट भोलू नाम का हाथी है। और यह क्यूट-सा हाथी भारतीय रेल में बतौर गॉर्ड तैनात है।

-भारतीय रेल ट्रैक की कुल लंबाई 64 हजार किलोमीटर से ज्यादा है। वहीं अगर यार्ड, साइडिंग्स वगैरह सब जोड़ दिए जाएं तो यही लंबाई 1 लाख 10 हजार किलोमीटर से भी ज्यादा हो जाती है।

-भारत में पहली रेल की पटरी दो भारतीयों ने ही बिछवाई थी। इनके नाम थे जगन्नाथ शंकरसेठ और जमशेदजी जीजीभाई।

-मेतुपलयम ऊटी नीलगिरी पैसेंजर ट्रेन भारत में चलने वाली सबसे धीमी ट्रेन है। यह लगभग 16 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है।

-भारतीय ट्रेनें दिन भर में जितनी दूरी तय करती हैं, वह धरती से चांद के बीच की दूरी का लगभग साढ़े तीन गुना है।

-भारतीय रेलवे में लगभग 16 लाख लोग काम करते हैं। यह दुनिया का 9वां सबसे बड़ा एंप्लॉयर है।

-भारतीय रेल पूरी तरह से सरकार के अधीन है। वहीं, भारतीय रेल दुनिया की सबसे सस्ती रेल सेवाओं में से एक है।

-हावड़ा-अमृतसर एक्सप्रेस सबसे ज्यादा जगहों पर रुकने वाली एक्सप्रेस ट्रेन है। इसके 111 स्टॉपेज हैं।

-भारतीय रेल से रोज करीब 2.5 करोड़ लोग यात्रा करते हैं। यह संख्या ऑस्ट्रेलिया की कुल जनसंख्या के लगभग बराबर है।

-भारतीय रेलवे ने कम्प्यूटराइज्ड रिजर्वेशन की सेवा की शुरुआत नई दिल्ली में 1986 को की थी।

-नई दिल्ली के मेन स्टेशन के नाम दुनिया के सबसे बड़े रूट रिले इंटरलॉकिंग सिस्टम का रिकॉर्ड है। यह उपलब्धि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में भी दर्ज है।

-दुनिया का सबसे लंबा प्लैटफॉर्म उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में है। इसकी कुल लंबाई 1366.33 मीटर है।

-भारतीय रेल दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क्स में से एक है। इसके ट्रैक्स की कुल लंबाई लगभग 115,000 किलोमीटर जबकि रूट की लंबाई लगभग 65,000 किलोमीटर है।

-भारत में सबसे लंबे नाम वाले रेलवे स्टेशन का नाम वेंकटनरसिंहराजुवारिपटा (Venkatanarasimharajuvaripeta) है। वहीं इब (Ib) सबसे छोटे नाम वाला रेलवे स्टेशन है।

-देश की सबसे लेट लतीफ ट्रेन गुवाहाटी-त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस है। यह ट्रेन औसतन 10-12 घंटे लेट होती है।

-दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज चिनाब नदी पर बन रहा है। बनने के बाद ये पेरिस के एफिल टावर को भी पीछे छोड़ देगा।

-भारत में कुल मिलाकर 7,500 रेलवे स्टेशन हैं।

-करीब 50 साल तक भारतीय ट्रेनों में टॉयलेट नहीं होता था।

-2014 में पहली बार भारतीय रेलवे ने एक मोबाइल ऐप्लिकेशन लॉन्च किया जिसके जरिए आप ट्रेनों की जानकारी हासिल कर सकते हैं।

Admin

Admin

Next Story