×

योग, भारत का विश्व को अनुपम उपहार है: महापौर संयुक्ता भाटिया

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर छटा इंटर स्कूल योगा मीट का शुभारंभ महापौर संयुक्ता भाटिया ने ऑनलाइन किया।

Mayor Sanyukta Bhatia
X

अंरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग करतीं मेयर संयुक्ता भाटिया (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सिटी मोंटेसरी स्कूल राजाजीपुरम (प्रथम कैंपस) द्वारा आयोजित छटा इंटर स्कूल योगा मीट का शुभारंभ महापौर संयुक्ता भाटिया ने ऑनलाइन करते हुए कहा कि आज हम सब अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं, यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि 27 दिसंबर, 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए दिए गए प्रस्ताव को अत्यंत सीमित समय में पारित कर दिया था। संयुक्त राष्ट्र द्वारा भी इसकी स्वीकार्यता बढ़ाते हेतु 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया, तब से प्रतिवर्ष 21 जून को विश्व के सभी देशों द्वारा इस योग दिवस को पूरे उत्साह के साथ मनाया जाता है।

महापौर ने कहा कि योग, भारत का विश्व को अनुपम उपहार है। उन्होंने बताया कि यह अत्यंत प्रसन्नता की बात है कि सिटी मांटेसरी स्कूल के 60 से 70 छात्र प्रतिवर्ष संयुक्त राष्ट्र संघ के मुख्यालय न्यूयॉर्क में जाकर, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को योग का प्रदर्शन करके, भारत का गौरव बढ़ा रहे हैं। मेरे लिए और भी सौभाग्य की बात है कि यह बच्चे हमारे लखनऊ शहर के हैं।

सिटी मांटेसरी स्कूल के बच्चे अपने देश की प्राचीन संस्कृति एवं सभ्यता को विश्व में प्रचारित व प्रसारित कर रहे है। सीएमएस छात्र विश्व को योग से निरोग का सन्देश दे रहे हैं। यह वास्तव में काबिले तारीफ है।

महापौर संयुक्ता भाटिया ने बताया कि हम सब जानते हैं कि कोरोना संक्रमण से बचाव में योग की महत्त्वपूर्ण भूमिका देखी-समझी गई है। अपनी दिनचर्या में नियमित योगासन और प्राणायाम शामिल करने वाले लोगों को रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने या फिर कोरोना से जल्दी उबरने में काफी मदद मिली है। हाल के वर्षों में भारत समेत दुनियाभर में योग की स्वीकार्यता बढ़ी है। वैसे महामारी से पूर्व भी बदलती जीवन शैली के कारण लोगों का जीवन तनावपूर्ण था, लेकिन कोरोना के कारण उत्पन्न चुनौतियां ने इसे और बढ़ा दिया है। ऐसे में इससे बचने के लिए उन्हें होलिस्टिक उपचार की जरुरत है। इसमें योग बेहद कारगर साबित हो रहा है। चिकित्सक भी योगासन प्राणायाम करने की सलाह देते रहें हैं। दरअसल, योग से न सिर्फ मानसिक संतुलन ठीक रहता है, बल्कि यह तन-मन को पूरी तरह फिट रखता है।

महापौर ने कहा कि कोरोना के इस संकटकॉल में हर किसी को योग की उपयोगिता का एहसास हो गया है। योग से न केवल रिकवरी में मदद मिल रही है, बल्कि मानसिक शांति भी मिल रही है। महामारी से बचाव के लिए अभी तक इम्यूनिटी मजबूत करना ही सबसे कारगर उपाय माना जा रहा है। ऐसे में लोग योग, प्राणायाम, मेडिटेशन, अलोम-विलोम और कपालभाति के रूप में तरह-तरह के आसन से अपनी इम्यूनिटी मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं।

योग मीट में देश विदेश की प्रख्यात हस्तियों ने अपनी ऑनलाइन मौजूदगी से समारोह की गरिमा में चार चांद लगा दिए। सीएमएस संस्थापक डॉ जगदीश गांधी व डॉ भारती गांधी, स्वामी चिदानंद जी, साध्वी भगवती सरस्वती जी के साथ सीएमएस के विभिन्न कैंपों की प्रधानाचार्य एवं बड़ी संख्या में गणमान्य हस्तियों व योग प्रेमियों ने ऑनलाइन जुड़कर समारोह की गरिमा को बढ़ाया।

समारोह में एंटोनीटा रोजी, सीनियर योग टीचर इटली राहुल हटाडे, योगा एक्सपर्ट थाईलैंड गंगाधर मांडलिक, डायरेक्टर योग विद्या गुरुकुल नासिक सुश्री अमृता लोहिया, योगा कंसलटेंट दिल्ली टिंकल शर्मा, योगा कंसलटेंट गुरुग्राम एवं राजेश्वरी सिंह डायरेक्टर कारवां क्लासरूम गुजरात आदि ने भी अपनी ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज कराई।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story