×

दिव्य कुंभ में गंगा की अविलता के लिए की जा रही है मानीटरिंग: धर्मपाल सिंह

दिव्य कुंभ में गंगा नदी में पानी की उपलब्धता , निर्मलता सहित अन्य कार्यों का निरीक्षण करने पहुंचे सिंचाई मंत्री ने कुंभ मेला क्षेत्र के सेक्टर 2 स्थित सिंचाई विभाग के शिविर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से वार्ता के दौरान बताया कि गंगा नदी में पानी की उपलब्धता सिंचाई व्यवस्था व नहरों की सिल्ट सफाई की प्रगति की समीक्षा के साथ साथ लगातार मानीटरिंग की जा रही है।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 30 Jan 2019 3:56 PM GMT

दिव्य कुंभ में गंगा की अविलता के लिए की जा रही है मानीटरिंग: धर्मपाल सिंह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

आशीष पाण्डेय

कुंभ नगर: दिव्य कुंभ में गंगा नदी में पानी की उपलब्धता , निर्मलता सहित अन्य कार्यों का निरीक्षण करने पहुंचे सिंचाई मंत्री ने कुंभ मेला क्षेत्र के सेक्टर 2 स्थित सिंचाई विभाग के शिविर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से वार्ता के दौरान बताया कि गंगा नदी में पानी की उपलब्धता सिंचाई व्यवस्था व नहरों की सिल्ट सफाई की प्रगति की समीक्षा के साथ साथ लगातार मानीटरिंग की जा रही है। जिससे कुंभ मेले में स्नानार्थियों के लिए लगातार स्वच्छ एवं निर्मल जल उपलब्ध कराया जा सके। कुंभ नगर प्रयागराज उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री श्री धर्मपाल सिंह ने बताया कि कुंभ मेला क्षेत्र में स्थित सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के शिविर में विभागीय कार्यो की प्रगति की आज समीक्षा बैठक की की है साथ ही संगम तट प्रयागराज में कुंभ 2019 के मद्देनजर मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के स्नान हेतु पर्याप्त पानी की उपलब्ध कराया गया है।

सिंचाई मंत्री ने बताया कि गंगा नदी के अविरल एवं निर्मल प्रवाह हेतु टिहरी जलाशय से निरंतर पानी छोड़ा जा रहा है तथा स्नान हेतु गंगा नदी के जल स्तर को स्थिर रखा गया है। गत सप्ताह गंगा नदी के जल संग्रहण क्षेत्र में व्यापक वर्षा होने पर राज्यों के माध्यम से जल प्रवाह को नियंत्रित किया गया है। श्री सिंह ने राज्यों के द्वारा जल नियंत्रण के प्रबंधों की जानकारी देते हुए बताया कि हरिद्वार से बिजनौर तक हुई वर्षा को बिजनौर बैराज द्वारा, बिजनौर से कानपुर तक हुई वर्षा को कानपुर बैराज द्वारा नियंत्रित किया गया है तथा कानपुर से प्रयाग तक हुई वर्षा को डलमऊ पंप नहर को चलाकर नियंत्रित किया गया है।

यह भी पढ़ें .....योगी के कुंभस्नान पर शशि थरूर की चुटकी, कहा-संगम में सभी नंगे हैं, बीजेपी का पलटवार

सिंचाई मंत्री श्री सिंह ने बताया कि एक ओर गंगा नदी के किनारे बसे कुंभ मेला के बसाहट को जलभराव से बचाने एवं सुरक्षा की दृष्टि से पंप द्वारा एवं अन्य सामान्य दिनों में गंगा के जल स्तर को बनाए रखने के लिए टिहरी जलाशय से समय-समय पर जल छोड़ा जा रहा है। वर्तमान समय में कानपुर बैराज से निरंतर 8000 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। श्री सिंह ने कुंभ मेले में स्नान हेतु छोड़े जा रहे जल का विवरण देते हुए बताया कि 29 जनवरी को 8000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था तथा आज 30 जनवरी को 8000 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

यह भी पढ़ें.....कुम्भ में गंगा पंडाल में आयोजित हुआ सर्व समावेशी संस्कृति कुम्भ,संतो ने किया प्रतिभाग

सिंचाई नहरों की सफाई एवं जल प्रवाह को लेकर जानकारी देते हुए बताया की वर्तमान में राजस्व मंडल प्रयागराज के अंतर्गत जनपद कौशांबी, फतेहपुर, प्रतापगढ़ तथा प्रयागराज है और इन जनपदों में कुल 1102 नहरें हैं। जनपद कौशांबी एवं फतेहपुर में रामगंगा की नहरें तथा प्रतापगढ़ में शारदा सहायक व जनपद प्रयागराज में सोन संगठन की नहरें हैं। जिनकी कुल लंबाई लगभग 5913.813 किलोमीटर है। वर्तमान फसली वर्ष में 1195.26 किलोमीटर राजबहा तथा 826.23 किलोमीटर अल्पिका की सिल्ट सफाई कराई जा चुकी है और यह अपने निर्धारित लक्ष्य का 103 प्रतिशत तथा गत वर्ष से 54 प्रतिशत अधिक है। श्री सिंह ने बताया कि नहरों में सिंचाई के लिए निरंतर पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। वर्तमान में रवि की फसल में 319.418 हजार हेक्टेयर लक्ष्य के सापेक्ष 141.945 हजार हेक्टेयर की सिंचाई हो चुकी है तथा 1089 किलो के लक्ष्य में से 996 टेलों तक पानी पहुंच चुका है ।

यह भी पढ़ें .....कुंभ के बाद संत अयोध्या में मिलेंगे और राम मंदिर का निर्माण शुरू होगा

सिंचाई मंत्री ने किया गंगा प्रसार घाट का निरीक्षण

बैठक के बाद सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने श्रद्धालुओं के स्नान के लिए विभाग द्वारा सेक्टर 17 में बनाए गए गंगा प्रसार घाट का निरीक्षण कुंभ मेला अधिकारी विजय किरण आनंद के साथ किया। निरीक्षण के दौरान में मेला अधिकारी ने बताया कि कुंभ मेले में कुल 35 घाट बनाए गए हैं। जिसमें निरंतर रूप से नहाने तथा आचमन लायक अविरल एवं स्वच्छ जल प्रवाहित हो रहा है।

यह भी पढ़ें .....राम मंदिर विवाद पर जगद्गुरु स्वरूपानंद सरस्वती की दो टूक, हम करवाएंगे भव्य निर्माण

उन्होंने बताया कि सुरक्षा के दृष्टिकोण से प्रत्येक घाटों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस तैनात की गई है। इसके अलावा रात में प्रकाश की व्यवस्था के लिए पर्याप्त संख्या में लाइटिंग की व्यवस्था की गई है। सिंचाई मंत्री ने अरैल के पक्के तौर पर बनाए गए सच्चा बाबा घाट का भी निरीक्षण किया। उन्होंने सेक्टर 18 में बने सिंचाई एवं जल संसाधन शिविर के निरीक्षण के दौरान की गई व्यवस्थाओं की प्रशंसा की।

यह भी पढ़ें .....आज से कुंभ मेले पर आधारित छायाचित्र प्रदर्शनी का शुभारंभ

सिंचाई मंत्री ने जल संसाधन विभाग की प्रदर्शनी का किया उद्घाटन

सिंचाई मंत्री ने कुंभ मेला क्षेत्र के सेक्टर 1 में सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का फीता काटकर उद्घाटन किया। विभाग द्वारा प्रदर्शनी में कनहर सिंचाई परियोजना, बाणसागर नहर परियोजना, सहभागी सिंचाई प्रबंधन, लहचूरा बांध परियोजना, सिचाई यांत्रिक कार्य, सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना तथा कुंभ मेला क्षेत्र 2019 प्रयागराज के नागवासुकी मार्ग, अरैल घाट, बक्शीबांध मार्ग, वोट क्लब घाट के लगाए गए डिजिटल प्रदर्शनी का गहनता से अवलोकन करते हुए विभागीय कार्यों की प्रशंसा की। उक्त अवसर पर विभागीय अभियंतागण उपस्थित रहे।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story